निर्देश (प्र. सं. १-६) नीचे दिए गए प्रत्येक प्रश्न में एक कथन और उसके बाद
दो तर्क घ् और घ्घ् दिए गए हैं। कथन पर विचार करते हुए निर्धारित कीजिए की
कौन-सा/से तर्क प्रबल/मजबूत है/हैं?
(a) केवल तर्क घ् मजबूत है
(ं) केवल तर्क घ्घ् मजबूत है
(म्) न तो तर्क घ् और न ही घ्घ् मजबूत है
(्) दोनों तर्क मजबूत हैं
१. कथन क्या गणेश को एक नई मोटरसाइकिल खरीदनी चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, गणेश की पुरानी मोटरसाइकिल, जिसे वह पिछले
१५ सालों से अपने कार्यालय जाने के लिए उपयोग कर रहा है, उसे
उस मोटरसाइकिल से आने-जाने में अक्सर परेशानी हो रही है।
घ्घ्. नहीं, नई मोटरसाइकिल प्रदूषण की मौजूदा समस्या को बढ़ा देगी।
(ळझ्एएएण् विधान भवन रक्षक/वन रक्षक २०१८)
२. कथन क्या विदेश में काम कर रहे भारतीय वैज्ञानिकों को भारत वापस
बुलाया जाना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, उन्हें पहले मातृभूमि की सेवा करनी चाहिए और खोजों, सम्मानों,
सुविधाओं आदि के बारे में भूल जाना चाहिए।
घ्घ्. नहीं, हमारे पास पर्याप्त प्रतिभा है उन्हें रहने दो जहाँ वे चाहते हैं।
(ळझ्एएएण् सम्मिलित व्यायाम प्रशिक्षक अधिकारी २०१८)
३. कथन विश्व के लेखक लोगों पर अव्यक्त रूप से, सैनिकों से अधिक प्रभाव
डालते हैं।
तर्क घ्. लेखक लोगों की सोच को प्रभावित करते हैं।
घ्घ्. शारीरिक शक्ति के साथ कोई व्यक्ति सब को जीत सकता है।
(ळझ्एएएण् सम्मिलित व्यायाम प्रशिक्षक अधिकारी २०१८)
४. कथन क्या संगीत मानव जाति की सार्वभौमिक भाषा है?
तर्क घ्. हाँ, लय और मेलोडी की विशिष्ट विशेषताएँ संगीत के माध्यम से भावनाओं
की मानव अभिव्यक्ति को चित्रित करने में योगदान देती हैं।
घ्घ्. हालाँकि, आधार से वे मानव अभिव्यक्ति हैं, संगीत और भाषायी प्रणाली
संस्कृति से संस्कृति में भिन्न होती हैं। (RRँ गु्रप डी परीक्षा २०१८)
५. कथन क्या नेपाल जैसे छोटे देशों के पास रक्षा सेनाएँ नहीं होनी चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, अन्य देश िंहसा पर भरोसा नहीं करते हैं।
घ्घ्. हाँ, नेपाल के बहुत लोग शान्तिप्रिय और अहिंसा के उपदेशक हैं।
(RRँ गु्रप डी परीक्षा २०१८)
६. कथन क्या बच्चों को झूठ बोलने के लिए दण्डित किया जाना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, बच्चों को अनुशासित करने के लिए उनकी उम्र के हिसाब से उचित
सजा देनी चाहिए।
घ्घ्. नहीं, दण्ड की वजह से वांछित व्यवहार लाने की बजाए, दण्डित होने
का डर पैदा हो जाता है।
निर्देश (प्र. सं. ७-१२) निम्नलिखित प्रत्येक प्रश्न में एक कथन और उसके नीचे
दो तर्क घ् और घ्घ् दिए गए हैं। आपको दिए गए तर्कों पर विचार करके तय करना
है। कि कौन-सा/से तर्क प्रभावशाील है/हैं? दिए गए विकल्पों में से एक सही उत्तर
चुनिए। (ळझ्एएएण् झ्rा २०१७)
७. कथन मेट्रो शहरों के सभी घरों में जल आपूर्ति में कमी है। यह आंशिक रूप
से पाइपलाइनों में जल के भारी रिसाव के कारण है।
तर्क घ्. अनुरक्षण २४ × ७ होना चाहिए और जल रिसाव को बन्द करना चाहिए।
घ्घ्. हमको और अधिक जल उसी अथवा कम खर्चे पर पम्प करना चाहिए।
(a) तर्क घ् प्रभावशाली है
(ं) तर्क घ्घ् प्रभावशाली है
(म्) तर्क घ् और घ्घ् दोनों प्रभावशाली हैं
(्) न तो तर्क घ् और न ही घ्घ् प्रभावशाली है
८. कथन ड्राइविंग के समय मोबाइल फोनों के उपयोग पर प्रतिबन्ध लगा दिया
जाना चाहिए।
तर्क घ्. हाँ, इसके कारण सड़क दुर्घटनाएँ होती हैं।
घ्घ्. नहीं, इससे व्यापार में बाधा आएगी।
(a) तर्क घ् प्रभावशाली है
(ं) तर्क घ्घ् प्रभावशाली है
(म्) तर्क घ् और घ्घ् दोनों प्रभावशाली हैं
(्) न तो तर्क घ् और न ही घ्घ् प्रभावशाली है
९. कथन बहुत-से राज्यों में ६ वर्ष की आयु से कम के बच्चों को कक्षा १ में
भर्ती नहीं किया जा सकता।
तर्क घ्. बच्चे में आवश्यक मानसिक और शारीरिक विकास होना चाहिए।
घ्घ्. प्रारम्भिक वर्षों में बच्चों को अपने माता-पिता के साथ होना चाहिए।
(a) तर्क घ् प्रभावशाली है
(ं) तर्क घ्घ् प्रभावशाली है
(म्) तर्क घ् और दोनों घ्घ् प्रभावशाली हैं
(्) न तो तर्क घ् और न ही घ्घ् प्रभावशाली है
१०. कथन क्या शिक्षा को कर्क्षा ेंघ्घ् तक के सभी बच्चों के लिए अनिवार्य कर देना
चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, इससे विद्यालय की शिक्षा को बीच में ही छोड़ने वाले बच्चों को
रोजगार देने वाले उद्योगों पर प्रभाव पड़ेगा।
घ्घ्. हाँ, विद्यालय की शिक्षा, उच्च शिक्षा और बेहतर भविष्य के लिए आधार
बनाती है।
(a) तर्क घ् प्रभावशाली है
(ं) तर्क घ्घ् प्रभावशाली है
(म्) तर्क घ् और घ्घ् दोनों प्रभावशाली हैं
(्) न तो तर्क घ् और न ही घ्घ् प्रभावशाली है
११. हाइड्रोजन एक सिलेण्डर में है। (RRँ Aथ्झ् २०१८)
तर्क घ्. हाइड्रोजन तरल स्थिति में है।
घ्घ्. हाइड्रोजन गैसीय स्थिति में है।
(a) केवल तर्क घ्घ् सही है
(ं) केवल तर्क घ् सही है
(म्) घ् और घ्घ् दोनों सही नहीं हैं
(्) या तो घ् या घ्घ् सही है
१२. क्या आपको तब तक कड़ी मेहनत करनी चाहिए जब तक आप अपने
हस्ताक्षर को ऑटोग्राफ में नहीं बदल देते हैं?
तर्क घ्. तब तक मेहनत करें जब तक आप उस स्थिति पर नहीं पहँुच जाते,
जिसमें आपको किसी को अपना परिचय देने की आवश्यकता नहीं है।
घ्घ्. आर्थिक रूप से सुरक्षित बनने के लिए कड़ी मेहनत करें।
(RRँ Aथ्झ् २०१८)
(a) घ् और घ्घ् दोनों प्रभावशाली नहीं हैं
(ं) घ् और घ्घ् दोनों प्रभावशाली हैं
(म्) केवल तर्क घ् प्रभावशाली है
(्) केवल तर्क घ्घ् प्रभावशाली है
निर्देश (प्र. सं. १३-४४) दिए गए प्रश्नों के बारे में निर्णय करते समय ‘प्रबल’
और ‘निर्बल’ तर्क में प्रभेद कर सकना वांछनीय होता है। ‘प्रबल’ तर्क महत्त्वपूर्ण
और प्रश्न से सीधे सम्बन्धित होते हैं। ‘निर्बल’ तर्क कम महत्त्वपूर्ण होते हैं और
प्रश्न से सीधे सम्बन्धित नहीं भी हो सकते हैं या फिर प्रश्न के किसी नगण्य पहलू
से सम्बन्धित हो सकते हैं। नीचे दिए गए प्रत्येक प्रश्न के बाद दो तर्क घ् और घ्घ्
दिए गए हैं। आपको यह तय करना है कि कौन-सा तर्क ‘प्रबल’ है और कौन-सा
‘निर्बल’ है?
उत्तर दीजिए
(a) केवल तर्क घ् प्रबल है
(ं) केवल तर्क घ्घ् प्रबल है
(म्) या तो तर्क घ् और या तो तर्क घ्घ् प्रबल है
(्) न तो तर्क घ् और न ही तर्क घ्घ् प्रबल है
(ा) तर्क घ् और घ्घ् दोनों प्रबल हैं
१३. कथन क्या, सार्वजनिक क्षेत्र में भर्ती करो और निकालों प्रणाली को अपनाने
की इजाजत देनी चाहिए।
तर्क घ्. हाँ, इससे सार्वजनिक क्षेत्रक को काम न करने वाले कर्मचारियों को
हटाने में सहायता मिलेगी और काम करने वाले कर्मचारियों को
पुरस्कार देने में भी मदद मिलेगी।
घ्घ्. नहीं, प्रबन्धन इस प्रणाली को निष्पक्ष तरीके से लागू करने में समर्थ नहीं
होगा और प्रबन्धन की उच्च शक्ति के कारण कर्मचारियों को भुगतान
होगा। (घ्Dँघ् ँaहव् र्Eेाम्ल्ूग्न २०१८)
१४. कथन क्या एक सेवानिवृत्त सरकारी कर्मचारी के करीबी रिश्तेदार को भारत
सरकार में नौकरी दी जानी चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, रिश्तेदार को इस तरह का काम कहाँ मिलेगा।
घ्घ्. नहीं, यह सक्षम और जरूरतमन्द युवाओं के लिए सरकारी सेवा के
दरवाजे बन्द कर देगा। (घ्Dँघ् ँaहव् र्Eेाम्ल्ूग्न २०१८)
१५. कथन क्या संसद के निर्वाचित सदस्यों की अवधि को दो वर्ष तक कम किया
जाना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, भारत में चुनाव हर एकान्तर वर्ष में आयोजित होते हैं।
घ्घ्. नहीं, संसद चुनाव के हर दौर में बड़ी मात्रा में धन की जरूरत है और
यह एक राष्ट्रीय बर्बादी है। (घ्Dँघ् ँaहव् र्Eेाम्ल्ूग्न २०१८)
१६. कथन क्या, सरकार को निजी प्रयोग के लिए कारों के रजिस्ट्रेशन को पूरे
देश में तत्काल प्रभाव से रोक देना चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, सरकार को ऐसा करने का अधिकार नहीं है।
घ्घ्. हाँ, भारत के बड़े शहरों की सड़कों पर भीड़ कम करने का यही
एकमात्र तरीका है। (Aत्त्aप्aंa् ँaहव् झ्ध् २००९)
१७. कथन क्या, भारत के सभी इन्जीनियिंरग कॉलेजों के लिए दाखिले का
एकरूप मानदण्ड होना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, इससे इन्जीनियिंरग कॉलेजों में दाखिल हुए छात्रों की गुणवत्ता
सुनिश्चित होगी।
घ्घ्. नहीं, यह विशेषकर सम्भव नहीं है। (ण्aहara ँaहव् झ्ध् २००७)
१८. कथन क्या, स्नातकीकरण को व्िाâसी भी सरकारी क्षेत्र के संगठन में प्रवेश
स्तर की नौकरियों के लिए न्यूनतम शैक्षिक अर्हता बनाया जाना
चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, अपनी उच्च स्तरीय शिक्षा के आधार पर गैर-स्नातकों के मुकाबले
स्नातकों का निष्पादन अच्छा होता है।
घ्घ्. नहीं, ऐसे कई लोग हैं, जो अपना स्नातकीकरण पूरा करने तक
बेरोजगार नहीं रह सकते हैं और स्नातक उम्मीदवारों के समान अच्छे
कार्य निष्पादन के लिए समर्थ होते हैं।
१९. कथन क्या, महाविद्यालय की सभी परीक्षाओं से सम्बद्ध परीक्षा निकायों को
वैâलकुलेटरों के उपयोग की अनुमति देनी चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, यह आवश्यक है कि अपनी संकल्पनाओं को स्पष्ट करने के लिए
विद्यार्थियों को मैनुअल गणना की पद्धतियों का ज्ञान हो।
घ्घ्. हाँ, सभी क्षेत्रों में कम्प्यूटरों के व्यापक उपयोग के साथ मैनुअल
गणनाओं की अब आवश्यकता नहीं है।
२०. कथन क्या, सार्वजनिक क्षेत्र के संगठनों के सभी कर्मचारियों के लिए हिन्दी
भाषा का ज्ञान अनिवार्य बनाया जाना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, शैक्षिक रूप से समाज के पिछड़े तबके के लोगों के साथ व्यवहार में
यह जरूरी है।
घ्घ्. नहीं, सभी कर्मचारियों के लिए हिन्दी भाषा का ज्ञान होना आवश्यक
नहीं है।
२१. कथन क्या, निजी क्षेत्र के सभी संगठनों के लिए सामाजिक रूप से पिछड़े
वर्गों के लिए कोटा का आरक्षण अनिवार्य बनाना चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, निजी क्षेत्र के संगठन सरकारी नियमों द्वारा अभिशासित नहीं होने
चाहिए।
घ्घ्. हाँ, निजी क्षेत्र के संगठनों को भी सामाजिक रूप से पिछड़े वर्गों के
उत्थान में योगदान देना चाहिए।
२२. कथन क्या, बलात्कार और यौन उत्पीड़न की बढ़ती हुई घटनाओं के कारण
महिलाओं को रात को अकेले यात्रा नहीं करने की सलाह दी जानी
चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, इसके बजाय सरकार को ऐसी घटनाओं के नियन्त्रण के उपाय
करने चाहिए।
घ्घ्. हाँ, पुलिस विभाग के लिए भी ऐसी घटनाओं पर नियन्त्रण रखना
मुश्किल है। (ण्दrज्दraूग्दह ँaहव् झ्ध् २००८)
२३. कथन क्या, हमारे देश में कुछ अवसरों को छोड़कर आतिशबाजी सहित
पटाखे चलाने पर पूर्ण प्रतिबन्ध होना चाहिए।
तर्क घ्. नहीं, लोगों को सभी अवसरों पर अपनी रुचियों और प्राथमिकताओं के
अनुसार आनन्द उठाने की अनुमति होनी चाहिए।
घ्घ्. हाँ, पटाखे चलाने से बहुत ज्यादा ध्वनि और वायु प्रदूषण होता है, जो
स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।
२४. कथन क्या, नगर विकास प्राधिकारियों को शॉिंपग मॉलों के निर्माण को
प्रोत्साहित करना चाहिए, जिसके परिणामस्वरूप छोटी दुकानें बन्द हो
जाएँगी?
तर्क घ्. हाँ, शॉिंपग मॉल में एक ही छत के नीचे प्रत्येक चीज सस्ती दर पर मिल
सकती है।
घ्घ्. नहीं, बहुत-से लोगों के लिए रोजमर्रा की खरीदारी के लिए शॉिंपग
मॉलों में जाना सुविधाजनक नहीं होगा।
२५. कथन क्या, छात्र संघों के राजनीतिक दलों से सम्बद्ध होने पर प्रतिबन्ध
होना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, राजनीतिक दल अपने स्वार्थी हितों को पूरा करने के लिए छात्र
संघों का अनुचित लाभ उठाते हैं।
घ्घ्. नहीं, राजनीतिक दलों के समर्थन के बिना छात्र संघ बच नहीं पाएँगे।
२६. कथन क्या, उच्च अध्ययन के संस्थानों में पिछड़े वर्गों के लिए कोटा आरम्भ
करना सामाजिक न्याय करने की सही युक्ति होगी?
तर्क घ्. नहीं, इससे अनारक्षित वर्गों के लिए बहुत थोड़े-से स्थान बचेंगे जो योग्य
उम्मीदवारों और विशेषकर जो आर्थिक रूप से पिछड़े हैं, उनके लिए
अनुचित होगा।
घ्घ्. हाँ, उन्हें अवसर प्रदान करना आवश्यक है, ताकि वे सामान्य वर्ग के
उम्मीदवारों के स्तर तक आ सकें।
२७. कथन क्या महाविद्यालयों में सेलफोन को प्रतिबन्धित कर देना चाहिए,
जिससे उसके दुरुपयोग से बचा जा सके।
तर्क घ्. हाँ, प्रतिबन्ध से दुरुपयोग कम होगा।
घ्घ्. नहीं, इसका बहुत सीमित प्रभाव पड़ेगा। (श्झ्झ्एण् झ्rा २०१५)
२८. कथन क्या, भारतवर्ष में खेती-बाड़ी के लिए भूमिगत जल (ुrदल्ह् ैaूी)
प्रयोग करने पर प्रतिबन्ध लगाना चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, खेती-बाड़ी पर इसका बड़ा बुरा प्रभाव पड़ेगा, क्योंकि िंसचाई के
लिए अन्य सुविधाएँ नहीं हैं।
घ्घ्. हाँ, इससे पारिक सन्तुलन (ाम्दत्दुग्म्aत् ंaत्aहम) पर बड़ा प्रभाव
पड़ेगा, क्योंकि खेती के लिए काफी भूमिगत जल खींच लिया गया है
२९. कथन क्या, व्यावसायिक पाठ्यक्रमों सहित सभी पाठ्यक्रमों में स्नातक स्तर
तक अंग्रेजी एक अनिवार्य विषय होना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, इससे विद्यार्थियों को इस विषय में निपुण होने में सहायता मिलेगी
और वे प्रभावपूर्ण ढंग से अपना कार्य करने के लिए तैयार होंगे।
घ्घ्. नहीं, यह कतई उचित नहीं है, क्योंकि विज्ञान के विषय में और बहुत-से
व्यावसायिक पाठ्यक्रमों में विषय के रूप में अंग्रेजी अनावश्यक है।
३०. कथन क्या, जीविका अर्जन में सहायता देने के लिए किसानों को उर्वरकों
और बिजली पर दी जा रही सहायकी में वृद्धि की जानी चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, किसानों पर भारी कर्ज है, क्योंकि वे अपने परिवार के भरण-पोषण
के लिए पर्याप्त कमाई नहीं कर पाते हैं।
घ्घ्. नहीं, कुछ बड़े किसानों को इससे अनुचित लाभ मिलेगा और जनता के
धन की कीमत पर वे अत्यधिक लाभ कमाएँगे।
३१. कथन क्या, भारत में स्नातक विद्यार्थियों को प्रत्येक डिसिप्लेन में विषयों के
समूह से अपने स्वयं के विषयों के सम्मिश्र के चुनाव की छूट
होनी चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, इससे विद्यार्थी प्रेरित होंगे, क्योंकि वे अपनी पसन्द के विषय पढ़
सकते हैं।
घ्घ्. नहीं, विषय सम्मिश्र देने का अन्तिम अधिकार महाविद्यालयों के पास
होना चाहिए।
३२. कथन क्या, भारत में आनुवांशिक रूप में संशोधित बिनौला के उपयोग पर
से प्रतिबन्ध तत्काल उठा लिया जाना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, कपास उत्पादन बढ़ाने का यही एकमात्र तरीका है।
घ्घ्. नहीं, इन बीजों का मनुष्यों पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है। अत: इनका
उपयोग नहीं किया जाना चाहिए। (अहa ँaहव् झ्ध् २००९)
३३. कथन क्या, विद्याविदों की निवृत्ति आयु बढ़ाकर ६५ वर्ष कर दी जानी
चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, गैर-विद्याविद् जिनकी निवृत्ति आयु सीमा कम है, उनके लिए यह
नावाजिब होगा।
घ्घ्. हाँ, अनुभवी विद्याविद् राष्ट्र की बौद्धिक सम्पत्ति को बहुत योगदान दे
सकते हैं।
३४. कथन क्या, प्राइवेट कॉलेजों में प्रवेश हेतु प्रबन्धकों का कोटा बढ़ा दिया
जाना चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, इससे योग्य विद्यार्थी अच्छे कॉलेजों में प्रवेश पाने से वंचित रह
जाएँगे।
घ्घ्. हाँ, यदि कॉलेज स्वयं निधिकृत हैं, तो उन्हें प्रवेश हेतु अपने स्वयं के
मानदण्ड निर्धारित करने की छूट होनी चाहिए।
३५. कथन क्या, राज्य के शिक्षा विभाग को सभी प्राथमिक पाठशालाओं को बच्चों
को गृहकार्य देना बन्द करने के अनुदेश देने चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, बच्चों पर अत्यधिक बोझ टालने के लिए यह जरूरी है। पाठशाला के
घण्टे सीखने हेतु पर्याप्त हैं।
घ्घ्. नहीं, इससे माता-पिता अपने प्रतिपाल्यों की प्रगति मॉनीटर नहीं कर पाएँगे।
३६. कथन क्या, सरकार की पूर्वानुमति के बिना सरकार को सभी राजनैतिक
और धार्मिक जुलूसों पर प्रतिबन्ध लगा देना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, अकसर जुलूसों की वजह से दंगे होते हैं।
घ्घ्. नहीं, एक लोकतान्त्रिक देश में यह मानव अधिकारों के खिलाफ है।
३७. कथन क्या, सभी व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के लिए, सभी प्राइवेट कॉलेजों के
लिए एक ही प्रवेश परीक्षा का आयोजन अनिवार्य कर दिया जाना
चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, विद्यार्थियों को सभी कॉलेजों के लिए विचार करने का अवसर मिले
यह सुनिश्चित करने हेतु प्रवेश परीक्षाओं की तारीखों में टकराव टालने
के लिए यह जरूरी है।
घ्घ्. नहीं, कॉलेज के ग्रेड के आधार पर, परीक्षाओं के कठिनाई के
अलग-अलग स्तरों की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए यह सम्भव
नहीं है।
३८. कथन क्या, एक वैâलेण्डर वर्ष के भीतर किसी भी देश द्वारा खेले जाने वाले
एकदिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैचों की संख्याएँ सीमित होनी
चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, प्रत्येक देश को जितने चाहे उतने मैच खेलने की स्वतन्त्रता होनी
चाहिए।
घ्घ्. हाँ, अन्यथा उच्च क्रम के खिलाड़ी शीघ्र ही बर्बाद (ंल्rहदल्ू) हो जाएँगे।
३९. कथन क्या, देशभर में मैट्रीकुलेशन तक एक ही प्रकार के स्कूल होने चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, कुछ पश्चिमी देशों में ऐसा ही है।
घ्घ्. नहीं, ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में स्कूल भिन्न होने चाहिए।
४०. कथन क्या, सरकार को विदेशी कम्पनियों को भारत की ऊर्जा परियोजनाओं
में निवेश की अनुमति देनी चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, इससे अपने देश में ऊर्जा की अत्यधिक कमी की समस्या पर
निश्चित ही प्रभाव पड़ेगा।
घ्घ्. नहीं, यह विदेशी हितों के समक्ष आत्मसमर्पण करना है।
(श्झ्झ्एण् झ्rा २०१५)
४१. कथन क्या, हमको सभी खेलों को समान रूप से महत्त्व देना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, हमको किसी खास खेल का पक्षपात नहीं करना चाहिए।
घ्घ्. नहीं, हमको कुछ खेलों को चुनना चाहिए और केवल उनके ऊपर ध्यान
केन्द्रित करना चाहिए, ताकि उनमें उत्कृष्टता पा सकें।
(श्झ्झ्एण् झ्rा २०१५)
४२. कथन क्या, फल उगाने वाले पौधों और पेड़ों के अनुरक्षण के लिए
कीटनाशकों के प्रयोग पर पूर्णत: प्रतिबन्ध लगाया जाना चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, ये सभी पौधे और पेड़ कीटों के आक्रमण से नष्ट हो जाएँगे। इससे
किसानों को गम्भीर आर्थिक हानि होगी।
घ्घ्. हाँ, कीटनाशकों में खतरनाक रसायनों का प्रयोग किया जाता है, जो
फलों में प्रवेश कर इनके उपभोक्ताओं के लिए स्वास्थ्य की गम्भीर
समस्याएँ पैदा करते हैं।
४३. कथन क्या, भारत में जुआ खेलने की विधिक रूप से छूट दी जानी चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, जुए में लगने वाली राशि पर कर लगाकर सरकार अत्यधिक धन
अर्जित कर सकती है, क्योंकि अन्यथा लोग अवैध रूप से जुआ
खेलते हैं।
घ्घ्. नहीं, इसे विधिक बनाए जाने पर समाज के गरीब वर्ग के लोग अपनी पूरी
आय जुए में लगा देंगे, इससे उन्हें भुखमरी का सामना करना पड़ेगा।
४४. कथन क्या, भारत में बड़े शहरों में घरेलू वस्तुएँ बेचने वाली सभी छोटी
दुकानें बन्द कर देनी चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, इन छोटी दुकानों को चलाने में लगे सभी लोग बेकार हो जाएँगे
और उनके पास आजीविका के लिए कमाई का कोई साधन नहीं रहेगा।
घ्घ्. हाँ, बड़े शहरों में बड़े शॉिंपग मॉलों में लोग एक ही छत के नीचे अपनी
सारी खरीदारी करना पसन्द करते हैं। इसलिए इन छोटी दुकानों को
टिके रहने के लिए ग्राहक नहीं मिलेंगे।

निर्देश (प्र.सं. १-१२) दिए गए प्रश्नों के बारे में निर्णय करते समय ‘प्रबल’ और
‘निर्बल’ तर्क में प्रभेद कर सकना वांछनीय होता है। ‘प्रबल’ तर्क महत्त्वपूर्ण और
प्रश्न से सीधे सम्बन्धित होते हैं। ‘निर्बल तर्क कम महत्त्वपूर्ण होते हैं और प्रश्न से
सीधे सम्बन्धित नहीं भी हो सकते हैं या फिर प्रश्न के किसी नगण्य पहलू से
सम्बन्धित हो सकते हैं। नीचे दिए गए प्रत्येक प्रश्न के बाद तीन/चार तर्क घ्, घ्घ्, घ्घ्घ्
और घ्न्न् दिए गए हैं। आपको यह तय करना है कि कौन-सा तर्क ‘प्रबल’ है और
तद्नुसार अपना उत्तर देना है?
१. कथन क्या, प्रतिवर्ष एक करोड़ से अधिक कमाने वालों के लिए आयकर की
दर काफी अधिक होनी चाहिए? (घ्ँझ्ए झ्ध्/श्ऊ श्aग्ह २०१७)
तर्क घ्. नहीं, कर देने वाले प्रत्येक नागरिक को एक समान माना जाना चाहिए,
भले ही उनकी वार्षिक आय कितनी भी हो।
घ्घ्. नहीं, कर देने वाले और एक करोड़ से अधिक कमाने वाले व्यक्ति का
प्रतिशत थोड़ा-सा है, इसलिए सरकार की आमदनी पर बहुत अधिक
असर नहीं पड़ेगा।
घ्घ्घ्. हाँ, अधिक आय कमाने वालों पर ऊँची दर लगाना न्यायोचित है,
क्योंकि अपनी जरूरतों को पूरा कर लेने के बाद वे अधिक कर अदा कर
सकेंगे।
(a) घ् और घ्घ् दोनों प्रबल हैं (ं) केवल घ्घ्घ् प्रबल है
(म्) केवल घ्घ् प्रबल है (्) घ्, घ्घ् और घ्घ्घ् तीनों प्रबल हैं
(ा) इनमें से कोई नहीं
२. कथन क्या, सरकारी स्कूलों के सभी अध्यापकों की सेवानिवृत्ति की आयु
बढ़ाकर ६५ वर्ष कर दी जानी चाहिए।
तर्क घ्. हाँ, गुणवत्तापूर्ण अध्यापकों की अत्यधिक कमी है।
घ्घ्. नहीं, शिक्षित युवक नौकरी के अवसर से वंचित रह जाएँगे।
घ्घ्घ्. हाँ, सरकार इन अध्यापकों के सेवानिवृत्ति सम्बन्धी भुगतान को
अस्थगित कर सकती है।
(a) केवल घ् प्रबल है (ं) केवल घ्घ् प्रबल है
(म्) केवल घ्घ्घ् प्रबल है (्) घ् और घ्घ् दोनों प्रबल हैं
(ा) इनमें से कोई नहीं
३. कथन क्या, सरकार को बिजली का प्रयोग प्रत्येक परिवार की जरूरत पर
निर्भर करते हुए सीमित कर देना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, इससे सरकार को बिजली के अपर्याप्त उत्पादन की समस्या को हल
करने में सहायता मिलेगी।
घ्घ्. नहीं, प्रत्येक नागरिक को अपनी जरूरत के हिसाब से बिजली की खपत
का अधिकार है, क्योंकि वे बिजली के प्रयोग का भुगतान करते हैं।
घ्घ्घ्. नहीं, बिजली के प्रयोग की सीमा तय करने के लिए सरकार के पास
मशीनरी नहीं है। (Rँघ् ण्त्ीव् २००९)
(a) केवल घ् प्रबल है (ं) केवल घ्घ् प्रबल है
(म्) घ् और घ्घ् दोनों प्रबल हैं (्) घ्घ् और घ्घ्घ् दोनों प्रबल हैं
(ा) ये सभी
४. कथन क्या, संक्रामक वायरल इन्पैâक्शन को तेजी से पैâलने से रोकने के
लिए सरकार को सभी शिक्षण संस्थानों को एक महीने के लिए बन्द
करने के आदेश देने चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, वायरल इन्पैâक्शन को पैâलने से रोकने के लिए शिक्षण संस्थानों
को बन्द करना एकमात्र उपाय नहीं है।
घ्घ्. नहीं, छात्र मॉल, मार्वेâट और खेल के मैदान जैसी भीड़ भरी जगहों में
ज्यादा संख्या में जाकर रोग को पैâलाएँगे, क्योंकि उनके पास खाली समय
होगा।
घ्घ्घ्. हाँ, युवकों को वायरल इन्पैâक्शन जल्दी लगता है, इसलिए उन्हें घर में
ही रहना चाहिए।
(a) कोई भी तर्क प्रबल नहीं है (ं) केवल घ् प्रबल है
(म्) केवल घ्घ्घ् प्रबल है (्) घ् और घ्घ् दोनों प्रबल हैं
(ा) ये सभी
५. कथन क्या, देश में अनुमानित सूखे की स्थिति से निपटने के लिए सरकार
को अगले एक वर्ष के लिए सभी प्रकार के खाद्यान्नों का निर्यात रोक
देना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, वर्ष के दौरान अपने नागरिकों को भोजन प्रदान करने का और कोई
तरीका नहीं है।
घ्घ्. नहीं, निर्यातकों पर रोक लगाने के लिए निजी निर्यातक सरकार के
क्षेत्राधिकार में नहीं आते हैं।
घ्घ्घ्. हाँ, सरकार को निर्यातकों को खाद्यान्न निर्यात करने की अनुमति नहीं
देनी चाहिए और ऐसे निर्यातकों के पास रखे सारे खाद्यान्नों को ले लेना
चाहिए और घरेलू खपत के लिए उपलब्ध कराना चाहिए।
(a) घ् और घ्घ् दोनों प्रबल हैं (ं) घ्घ् और घ्घ्घ् दोनों प्रबल हैं
(म्) घ् और घ्घ्घ् दोनों प्रबल हैं (्) ये सभी
(ा) इनमें से कोई नहीं
६. कथन क्या, सारे देश के सभी विश्वविद्यालयों के स्नातक की पढ़ाई में सभी
विषयों के लिए एकसमान पाठ्यक्रम होना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, यह देश की शिक्षा प्रणाली में एकरूपता लाने का एकमात्र तरीका है।
घ्घ्. हाँ, इससे देश के विभिन्न विश्वविद्यालयों में दिए जा रहे स्नातक
प्रमाण-पत्रों की गुणवत्ता का मानकीकरण करने में सहायता मिलेगी।
घ्घ्घ्. नहीं, प्रत्येक विश्वविद्यालय को अपनी विशेष आवश्यकताओं के आधार
पर अपना पाठ्यक्रम तय करने की स्वायत्तता होनी चाहिए।
(a) कोई प्रबल नहीं है (ं) केवल घ् प्रबल है
(म्) केवल घ्घ् प्रबल है (्) घ् और घ्घ् दोनों प्रबल हैं
(ा) घ्घ् और घ्घ्घ् दोनों प्रबल हैं
७. कथन जो छात्र प्एण् में एक या दो विषयों में फेल हुए हैं, क्या उन सभी
को डिग्री कोर्स में दाखिला लेने देना चाहिए और आगे की पढ़ाई
जारी रखने देना चाहिए? बशर्ते वे सप्लीमैण्टरी परीक्षा को
सफलतापूर्वक पास कर लें?
तर्क घ्. हाँ, इससे छात्रों को एक वर्ष के अन्तराल के बिना अपनी शिक्षा पूरी
करने में सहायता मिलेगी।
घ्घ्. हाँ, यह छात्रों की सहायता करने और उन्हें उच्च शिक्षा के लिए प्रेरित
करने की भविष्योन्मुखी रणनीति है।
घ्घ्घ्. नहीं, ऐसे छात्र प्एण् में सभी विषयों को पास किए बिना आगे की पढ़ाई
जारी करना पसन्द नहीं करते। (एँघ् झ्ध् २००७)
(a) केवल घ् प्रबल है (ं) केवल घ्घ् प्रबल है
(म्) केवल घ्घ्घ् प्रबल है (्) ये सभी
(ा) इनमें से कोई नहीं
८. कथन क्या, सरकार को सभी सरकारी स्कूलों में कर्क्षा ें तक सभी
विद्यार्थियों को पाठ्य-पुस्तकों की नि:शुल्क आपूर्ति करनी चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, इन स्कूलों के बहुत-से बच्चे अमीर परिवारों से आते हैं और इन्हें
नि:शुल्क पुस्तकें नहीं देनी चाहिए।
घ्घ्. हाँ, इससे छोड़ देने वालों की संख्या का प्रतिशत पर्याप्त कम होगा,
क्योंकि बहुत-से माता-पिता किताबों को खरीदने का भार वहन नहीं कर
पाते हैं।
घ्घ्घ्. नहीं, कर्क्षा ें तक निर्धारित पुस्तकों की कीमतें काफी कम होती हैं और
विद्यार्थियों को नि:शुल्क पुस्तकें बाँटने की जरूरत नहीं होती है।
(a) घ् और घ्घ् दोनों प्रबल हैं (ं) घ्घ् और घ्घ्घ् दोनों प्रबल हैं
(म्) घ् और घ्घ्घ् दोनों प्रबल हैं (्) ये सभी
(ा) इनमें से कोई नहीं
९. कथन क्या, सरकार को देश की सभी कोयला खानों का निजीकरण कर
देना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, इसका परिणाम इष्टतम् खनन होगा, क्योंकि निजी कम्पनियाँ,
उच्चतम सीमा तक उत्पादन बढ़ाने के लिए अन्य देशों से विशेषज्ञों को
लाने की स्थिति में होती हैं।
घ्घ्. नहीं, कोयले की खानें हमारे देश की सम्पत्ति हैं और हमें उन्हें निजी
लोगों के हाथों में नहीं जाने देना चाहिए।
घ्घ्घ्. हाँ, भारत की कोयले की खानों की स्थिति बहुत खराब है और सरकार
उनका दक्षतापूर्वक प्रबन्ध करने में असमर्थ है।
(a) घ् और घ्घ्घ् दोनों प्रबल हैं (ं) घ् और घ्घ् दोनों प्रबल हैं
(म्) घ्घ् और घ्घ्घ् दोनों प्रबल हैं (्) ये सभी
(ा) इनमें से कोई नहीं
१०. कथन क्या, सरकारी कॉलेजों में से पास होने वाले सभी इन्जीनियिंरग
स्नातकों के लिए सरकारी संगठनों/सरकारी उद्यमों में काम करना
अनिवार्य किया जाना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, इन विद्यार्थियों ने सरकार के विपुल संसाधनों का उपयोग किया है
और इन्हें सरकारी/सार्वजनिक उद्यमों में सेवा करके इसका बदला
चुकाना चाहिए।
घ्घ्. हाँ, अन्यथा ये विद्यार्थी श्र्‍ण्े में नौकरी पर लगेंगे और अत्यधिक
धनराशि अर्जित करेंगे, जिससे सरकारी संसाधनों की हानि होगी।
घ्घ्घ्. नहीं, प्रत्येक व्यक्ति को अपनी नौकरी चुनने का अधिकार है और
सरकारी/सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यमों में सेवा करना अनिवार्य नहीं किया
जाना चाहिए।
(a) कोई प्रबल नहीं है (ं) केवल घ्घ्घ् प्रबल है
(म्) घ् और घ्घ्घ् दोनों प्रबल हैं (्) ये सभी
(ा) इनमें से कोई नहीं
११. कथन क्या, रियलिटी ऊन्न् कार्यक्रमों में जनता का वोिंटग पूर्णत: प्रतिबन्धित
कर दिया जाना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, प्रतियोगी जनता की वोटों में हेरा-फेरी कर सकते हैं और योग्य
व्यक्ति प्रतियोगिता हार सकता है।
घ्घ्. नहीं, ऐसे कार्यक्रमों के निर्णायक पक्षपात कर सकते हैं। अत: अन्तिम
पैâसला आम जनता के हाथ में होना चाहिए।
घ्घ्घ्. हाँ, लोग योग्यता के सिवाय अन्य कई कारणों से किसी प्रतियोगी के
पक्ष में वोट कर सकते हैं। अत: जनता का मत पक्षपातपूर्ण हो सकता है।
(a) घ् और घ्घ् दोनों प्रबल हैं
(ं) घ्घ् और घ्घ्घ् दोनों प्रबल हैं
(म्) या तो घ्, घ्घ्घ् और घ्घ् प्रबल हैं
(्) घ्, घ्घ् और घ्घ्घ् सभी प्रबल हैं
(ा) उपरोक्त में से कोई नहीं
१२. कथन क्या मोटरसाइकिल चालक तथा सवार दोनों के लिए ही हेलमेट
पहनना सख्तीपूर्वक अनिवार्य कर दिया जाना चािहए?
तर्क घ्. हाँ, यह एक नियम है तथा नियमों का सभी को सख्ती से पालन करना
चाहिए।
घ्घ्. नहीं, प्रत्येक व्यक्ति जानता है कि वह अपनी सुरक्षा वैâसे करे। अब यह
पैâसला उसी पर छोड़ दिया जाना चाहिए।
घ्घ्घ्. नहीं, यह सुरक्षा का आश्वासन नहीं देता, क्योंकि सिर पर तो हेलमेट
होता है, किन्तु शरीर का अन्य हिस्सा सुरक्षा विहीन।
घ्न्न्. हाँ, यह सिर जैसे अतिसंवेदनशील अंगों की सुरक्षा के लिए आवश्यक
है।
(a) केवल घ्घ्घ् प्रबल है (ं) सभी तर्क प्रबल हैं
(म्) घ् और घ्घ् प्रबल हैं (्) घ् और घ्न्न् प्रबल हैं

निर्देश (प्र. सं. १-८) नीचे दिए गए प्रत्येक प्रश्न में एक कथन और दो तर्क घ् और घ्घ्
दिए हुए हैं। निर्णय करें कि कथन के सन्दर्भ में कौन-सा/से तर्क मजबूत है/हैं?
(a) यदि केवल तर्क घ् मजबूत है
(ं) यदि केवल तर्क घ्घ् मजबूत है
(म्) यदि तर्क घ् और घ्घ् दोनों मजबूत हैं
(्) यदि न तो तर्क घ् और न ही तर्क घ्घ् मजबूत है
१. कथन क्या सरकार को दालों के निर्यात पर प्रतिबन्ध लगाना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, इससे भारत में दालों की कीमत कम हो जाएगी।
घ्घ्. नहीं, इस निर्णय से निर्यात उद्योगों में नौकरियाँ समाप्त हो जाएगी।
(ळझ् झ्दत्ग्म ण्दहेूaंत २०१८)
२. कथन क्या अन्तरजातीय विवाह को भारत में प्रोत्साहित किया जाना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, यह जाति व्यवस्था को समाप्त कर देगा।
घ्घ्. नहीं, यह हमारी भारतीय परिवार प्रणाली को नष्ट कर देगा।
(ळझ् झ्दत्ग्म ण्दहेूaंत २०१८)
३. कथन मच्छरों के उत्पन्न होने से बचने का उपाय क्या है?
तर्क घ्. हमें गन्दे और रुके पानी को हटा देना चाहिए। हमें मच्छर प्रतिरोध तथा
अन्य गैजेट्स का उपयोग मच्छरों के काटने से बचने के लिए करना चाहिए।
घ्घ्. मच्छरों को खत्म करने का कोई उपाय नहीं है। वे एक खास मौसम में
उत्पन्न होते हैं। हमें केवल रोकथाम की व्यवस्था करनी चाहिए।
(RRँ गु्रप डी परीक्षा २०१८)
४. कथन क्या भारत में सात सितारा होटलों पर प्रतिबन्ध लगाया जाना चाहिए।
तर्क घ्. हाँ, अन्तर्राष्ट्रीय अपराधी सात सितारा होटलों से काम संचालित करते
हैं।
घ्घ्. नहीं, धनी पर्यटाकों के न आने से पर्यटन राजस्व में हानि होगी।
(RRँ गु्रप डी परीक्षा २०१८)
५. कथन क्या सरकार को विद्युत चालित वाहनों के प्रचलन को बढ़ाने के लिए
सब्सिडी देनी चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, इससे विद्युत चालित वाहनों की बिक्री बढ़ेगी।
घ्घ्. नहीं, लोगों को ऐसी किसी सब्सिडी का इंतजार ना करके उन्हें
पर्यावरण की सुरक्षा करने के लिए आगे आना चाहिए।
(RRँ गु्रप डी परीक्षा २०१८)
६. कथन क्या सभी भारतीय नागरिकों के लिए एक वर्ष का सेना का प्रशिक्षण
अनिवार्य होना चाहिए।
तर्क घ्. नहीं, प्रशिक्षण की लागत निषेधात्मक होगी और एक वर्ष का श्रम खो
जाएगा।
घ्घ्. हाँ, सैन्य प्रशिक्षण नागरिकों को बेहतर बनाने में मदद करेगा।
(एएण् ण्उथ् २०१७)
७. कथन क्या भारतीय फिल्मों से गानों को हटाया जाना चाहिए।
तर्क घ्. हाँ, हॉलीवुड की फिल्मे कोई गाने न होने के बावजूद हिट होती हैं।
घ्घ्. नहीं, गाने फिल्म की लम्बाई बढ़ाने में मदद करते हैं।
(एएण् ण्उथ् २०१७)
८. कथन क्या गतिरोधकों को प्रतिबन्धित किया जाना चाहिए?
(एएण् ण्उथ् २०१७)
तर्क घ्. हाँ, आँकड़े दिखाते हैं कि गतिरोधक लगाने के बाद दुर्घटनाओं की
संख्या में वृद्धि हुई है।
घ्घ्. नहीं, यह तेज चालकों को एक सबक सिखाता है।
निर्देश (प्र. सं. ९-३२) दिए गए कथन के बारे में निर्णय करते समय ‘प्रबल’
और ‘निर्बल’ तर्क में प्रभेद कर सकना वांछनीय होता है। ‘प्रबल’ तर्क महत्त्वपूर्ण
और प्रश्न से सीधे सम्बन्धित होते हैं। ‘निर्बल’ तर्क कम महत्त्वपूर्ण होते हैं और
प्रश्न से सीधे सम्बन्धित नहीं भी हो सकते हैं या फिर प्रश्न के किसी नगण्य पहलू
से सम्बन्धित हो सकते हैं। नीचे दिए गए प्रत्येक प्रश्न के बाद दो तर्क घ् और घ्घ्
दिए गए हैं। आपको यह तय करना है कि कौन-सा तर्क ‘प्रबल’ है और कौन-सा
‘निर्बल’ है?
उत्तर दीजिए
(a) केवल तर्क घ् प्रबल है
(ं) केवल तर्क घ्घ् प्रबल है
(म्) या तो तर्क घ् या घ्घ् प्रबल है
(्) न तो तर्क घ् और न ही तर्क घ्घ् प्रबल है
(ा) तर्क घ् और घ्घ् दोनों प्रबल हैं
९. कथन क्या, तम्बाकू उत्पादों की बिक्री प्रत्येक शहर की कुछ-एक दुकानों तक
ही सीमित रहनी चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, इससे तम्बाकू उत्पादों की खपत में काफी कमी आएगी।
घ्घ्. नहीं, जो तम्बाकू उत्पाद खरीदना चाहते हैं, उन्हें वे सुविधाजनक स्थानों
पर मिलने चाहिए। (एँघ् झ्ध् २००८)
१०. कथन क्या, देश भर में सभी जगह, सभी विश्वविद्यालयों को तत्काल, सभी
स्तरों पर ऑनलाइन प्रवेश आरम्भ कर देने चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, सभी विद्यार्थियों को इण्टरनेट का एक्सेस सरलता से उपलब्ध
नहीं होता।
घ्घ्. हाँ, इससे विद्यार्थी और माता-पिता विभिन्न कॉलेजों में जाकर कतारों में
खड़े रहने के झंझट से बच जाएँगे।
११. कथन क्या, जिन कम्पनियों में रात की पाली में कार्य करना पड़ता है, उनमें
महिला कर्मचारियों की भर्ती पर प्रतिबन्ध लगा दिया जाना चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, इसके बजाय कम्पनियों को कर्मचारियों के घर तक परिवहन
व्यवस्था करनी चाहिए।
घ्घ्. हाँ, बलात्कार/उत्पीड़न और धोखेबाजी के बढ़ते हुए मामलों को ध्यान में
रखते हुए यह आवश्यक है।
१२. कथन क्या, केन्द्र/राज्य सरकार के कर्मचारियों की निवृत्ति वय दो वर्ष बढ़ा
दी जानी चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, बढ़ती हुई दीर्घजीविका को ध्यान में रखते हुए यह आवश्यक है।
घ्घ्. हाँ, नये भर्ती हुए लोगों से अनुभवी कर्मचारी अधिक उपयोगी होते हैं।
१३. कथन क्या, सरकार को सभी प्राइवेट मैडिकल इंस्टीट्यूटों के लिए सरकार
द्वारा संचालित सामान्य प्रवेश परीक्षा में शामिल होना अनिवार्य कर देना
चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, प्राइवेट इंस्टीट्यूटों को नौकरी हेतु अधिक उपयुक्त बनाने के लिए
उन्हें अपनी स्वयं की प्रवेश नीति निर्धारित करने की छूट दी जानी
चाहिए।
घ्घ्. हाँ, सभी मैडिकल इंस्टीट्यूटों, चाहे प्राइवेट या सरकारी, को प्रवेश हेतु
मानदण्ड अपनाने चाहिए।
१४. कथन क्या, २५ वर्ष की आयु तक, युवाओं द्वारा तम्बाकू के सेवन पर पूर्ण
प्रतिबन्ध लगाया जाना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, यह एक अच्छा कदम होगा, क्योंकि २५ वर्ष की आयु तक युवा
पूर्णत: परिपक्व हो जाते हैं।
घ्घ्. नहीं, यह जरूरी नहीं है, क्योंकि १८ वर्ष से अधिक उम्र के सभी वयस्क
अपनी जिम्मेदारी समझ सकते हैं। (ळँघ् झ्ध् २००५)
१५. कथन क्या, भारत में मृदु जल के पेय पर पूरी तरह रोक लगा दी
जानी चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, ग्राहक की इच्छा पर छोड़ दिया जाना चाहिए कि वह कौन-सा पेय
पदार्थ खरीदता है।
घ्घ्. हाँ, इस पेय पदार्थ में बहुत-से हानिकारक रासायनिक पदार्थ मिले होते
हैं। अत: इस पर रोक लगा दी जानी चाहिए।
१६. कथन क्या, भारत के कुछ राज्यों को पावर शॉर्टेज से मुक्ति दिलाने के
लिए सभी राज्यों को केन्द्र के पावर सीड से जोड़ देना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, इससे प्रतिवर्ष माँग के अनुसार पावर क्षमता बढ़वाने में सहायता
मिलती है।
घ्घ्. नहीं, इससे कम जनसंख्या वाले राज्यों को केन्द्र पावर ग्रिड से अधिक
पावर मिलेगी।
१७. कथन क्या, भारत में फाँसी के दण्ड के स्थान पर पूरा जीवन कठोर
कारावास की सजा के रूप में बदल देना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, बहुत-से विकसित देशों ने इसे लागू कर दिया है।
घ्घ्. नहीं, जिन्होंने जघन्य अपराध किए हैं, उनके लिए फाँसी की सजा ही
होनी चाहिए।
१८. कथन क्या, पूरे देश के डांस क्लब को पूरी तरह बन्द कर देना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, यही एक रास्ता है, जो हमारी अच्छी सभ्यता की रक्षा कर
सकता है।
घ्घ्. नहीं, यह एक मनोरंजन करने का साधन है और जो इच्छुक हैं, उन्हें
मौका देना चाहिए।
१९. कथन क्या, जनगणना १० वर्षों के स्थान पर ५ वर्षों में कराई जानी चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, इससे व्यर्थ में पैसे खर्च करने के अतिरिक्त कुछ भी महत्त्वपूर्ण
बदलाव नहीं हो पाते हैं।
घ्घ्. हाँ, भारत जैसे देश में शीघ्र गणना जरूरी है।
(ण्aहara ँaहव् झ्ध् २००६)
२०. कथन क्या, किशोरों को इण्टरनेट की पहुँच से वंचित रखा जाना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, यह पाया जाता है कि बहुत-से बच्चे, विशेषकर किशोर अश्लील
विषय-वस्तु देखने में लग जाते हैं।
घ्घ्. नहीं, इण्टरनेट की पहुँच से वंचित रखने का अर्थ होगा बहुत-सी
उपयोगी जानकारी से वंचित करना, इसके बजाय बच्चों की पहुँच को
नियन्त्रित किया जा सकता है।
२१. कथन क्या, सरकार द्वारा स्कूल के स्तर पर कम्प्यूटर शिक्षा को एक
अनिवार्य विषय बना दिया जाना चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, देश के ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित स्कूलों में कम्प्यूटर पढ़ाना कठिन
होगा।
घ्घ्. हाँ, आधुनिकता के युग में कम्प्यूटर के बिना काम करना मुश्किल होगा।
२२. कथन क्या, सभी अन्तर्राष्ट्रीय उड़ानों में हैंड बैगेज पर स्थायी रूप से रोक
लगा दी जानी चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, इससे बहुत असुविधा होती है, क्योंकि लम्बी दूरी की उड़ानों में
न्यूनतम जरूरतों की चीजें ले जानी पड़ती हैं।
घ्घ्. हाँ, यात्रा कर रहे यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए यह
आवश्यक है।
२३. कथन क्या, देश के सब विश्वविद्यालयों को अंक देने के बजाय ग्रेड व्यवस्था
शुरू कर देनी चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, इससे अंकों की एक खास सीमा के भीतर आने वाले छात्रों को
एकसमान स्तर का माना जा सकता है।
घ्घ्. नहीं, जब चुनिन्दा सूची बनानी हो, तो छात्रों का स्थान तय करने में
कठिनाई होगी।
२४. कथन क्या, टेलीविजन पर वयस्क फिल्मों के प्रसारण पर पूर्ण प्रतिबन्ध होना
चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, ऐसी फिल्में बच्चों पर प्रतिकूल प्रभाव डालती हैं और उनके हितों को
सर्वोच्च प्राथमिकता दी जानी होती है।
घ्घ्. नहीं, बल्कि उनका प्रसारण किसी नियत समय पर, जब बच्चे आमतौर
पर घर से बाहर होते हैं, किया जा सकता है।
(ण्दrज्दraूग्दह ँaहव् झ्ध् २००७)
२५. कथन क्या, अल्पायु युवाओं द्वारा पीये जाने वाली शराब से जुड़ी दुर्घटनाओं
के लिए शराब कम्पनियों को जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, वे शराब पीने के परिणामों का विज्ञापन नहीं देते।
घ्घ्. नहीं, जाली पहचान-पत्र और लाइसेन्स आसानी से मिल जाते हैं,
जिससे युवाओं को शराब मिल जाती है।
२६. कथन क्या, यह सुनिश्चित करने के लिए कानून होना चाहिए कि बच्चे, बूढ़े
माता-पिता का भरण-पोषण करें?
तर्क घ्. हाँ, बूढ़े माता-पिता की उनके नजदीकी परिवार द्वारा उपेक्षा और
दुर्व्यवहार की समस्या का परिणाम बढ़ रहा है।
घ्घ्. नहीं, इस कानून को क्रियान्वित करने की लागत बहुत अधिक होगी।
२७. कथन क्या, राष्ट्रीय अन्तरिक्ष अनुसन्धान कार्यक्रमों के लिए दी जा रही निधि
को गरीबों की जरूरतों को पूरा करने के लिए विशाखित कर दिया
जाना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, अन्तरिक्ष अनुसन्धान का बजट अन्य देशों के बजट से कम होता
है, इसलिए वह उनसे प्रतिस्पर्द्धा नहीं कर सकता और उसे गरीबों के
फायदे वाली योजनाओं में बेहतर काम पर लगाया जा सकता है।
घ्घ्. नहीं, संचार उपग्रह टेलीमैडिसन जैसी सेवाएँ देने में सहायता करते हैं,
इसलिए ग्रामीण इलाकों के लोगों को बेहतरीन पेशेवर सलाह मिल
सकती है।
२८. कथन क्या, सरकार को निजी प्रसारकों पर उन अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैचों
जिनमें राष्ट्रीय टीम शामिल हो, के कवरेज को सरकार के स्वामित्व
वाले राष्ट्रीय नेटवर्क के साथ शेयर कराने पर जोर डालना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, जो लोग सेटेलाइट से जुड़े टेलीविजन से नहीं देख पाते हैं, वे
प्रमुख अन्तर्राष्ट्रीय टूर्नामेण्टों में राष्ट्रीय टीम को खेलते हुए देख
सकते हैं।
घ्घ्. नहीं, निजी प्रसारक सरकार के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करेंगे।
२९. कथन क्या, घाटा देने वाली सरकारी एयरलाइनों का विलेय करके उन्हें एक
इकाई बना देना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, विलयन से उनके संसाधन इकट्ठे हो जाएँगे और उनकी सेवाएँ बढ़
सकेंगी और वे निजी और विदेशी एयरलाइनों के सामने अधिक
प्रतिस्पर्द्धी हो सकेंगी।
घ्घ्. नहीं, विलयन से नौकरियाँ जाएँगी।
३०. कथन क्या, सरकारी कर्मचारियों की अवकाशों की संख्या को कम कर देना
चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, विश्व के सब देशों की अपेक्षा हमारे सरकारी कर्मचारियों को सबसे
अधिक अवकाश मिलता है।
घ्घ्. हाँ, इससे सरकारी कार्यालयों की उत्पादकता बढ़ेगी।
(श्झ्झ्एण् झ्rा २०१५)
३१. कथन क्या, सरकार को अन्तर्राष्ट्रीय खेलों पर भारी व्यय को बन्द कर देना
चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, इस धन का उपयोग निर्धनों के लिए किया जा सकता है।
घ्घ्. नहीं, खिलाड़ी निराश को जाएँगे और उनको अन्तर्राष्ट्रीय प्रभावन
(एक्सपोजर) नहीं मिलेगा। (श्झ्झ्एण् झ्rा २०१५)
३२. कथन क्या, १४ वर्ष की आयु वाले सभी बच्चों के लिए शिक्षा को अनिवार्य
कर देना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, इससे जबरन मजदूरी कराने वाले तन्त्र के उन्मूलन में सहायता
मिलेगी।
घ्घ्. हाँ, इससे रहन-सहन का स्तर बढ़ेगा।
निर्देश (प्र.सं. ३३-४८) दिए गए कथन के बारे में निर्णय करते समय ‘प्रबल’
और ‘निर्बल’ तर्क में प्रभेद कर सकना वांछनीय होता है। ‘प्रबल’ तर्क महत्त्वपूर्ण
और प्रश्न से सीधे सम्बन्धित होते हैं। ‘निर्बल’ तर्क कम महत्त्वपूर्ण होते हैं और
प्रश्न से सीधे सम्बन्धित नहीं भी हो सकते हैं या फिर प्रश्न के किसी नगण्य पहलू
से सम्बन्धित हो सकते हैं। नीचे दिए गए प्रत्येक प्रश्न के बाद तीन/चार तर्क घ्, घ्घ्,
घ्घ्घ् और घ्न्न् दिए गए हैं। आपको यह तय करना है कि कौन-सा तर्क ‘प्रबल’ है
और तद्नुसार अपना उत्तर देना है?
३३. कथन क्या, सरकार को विदेशी निर्माण कम्पनियों को परमाणु पावर प्लाण्ट
लगाने की छूट देनी चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, विदेशी निर्माण कम्पनियाँ, हमारे देश की निर्माण कम्पनियों से
तकनीकी रूप से बेहतर होती हैं। अत: वे बेहतर प्लाण्टों का निर्माण कर
पाएँगी।
घ्घ्. हाँ, हमें ऐसी सुविधाओं का निर्माण ऐसी विदेशी निर्माण कम्पनियों की
सहायता से करना चाहिए, जिन्हें समयबद्ध तरीके से ऐसे निर्माण करने
का अनुभव प्राप्त हो, ताकि अनावश्यक विलम्ब टाला जा सके।
घ्घ्घ्. नहीं, परमाणु पावर इन्स्टॉलेशन्स संवेदनशील प्रकृति के होते हैं और
देश की सुरक्षा से जुड़े होते हैं। अत: हमें विदेशियों को ऐसे निर्माण के
कार्य नहीं करने देने चाहिए। (ण्aहara ँaहव् झ्ध् २००७)
(a) सभी तर्क प्रबल हैं (ं) घ् और घ्घ् दोनोें प्रबल हैं
(म्) केवल घ्घ्घ् प्रबल है (्) केवल घ्घ् प्रबल है
(ा) इनमें से कोई नहीं
३४. कथन क्या, कृषि भूमि पर आवासीय परियोजनाएँ बनाने पर पूर्ण प्रतिबन्ध
होना चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, आवास की माँग सतत् वृद्धिशील है, इसलिए कृषि भूमि पर ऐसी
परियोजनाओं के निर्माण की चुनिन्दा अधार पर अनुमति दी जानी
चाहिए।
घ्घ्. हाँ, कृषि भूमि को ऐसे किसी भी अतिक्रमण से बचाया जाना होगा,
क्योंकि खाद्य की माँग हर वर्ष बढ़ती जा रही है।
घ्घ्घ्. हाँ, बड़े बिल्डर गरीब किसानों का शोषण करते हैं।
(a) घ् और घ्घ् दोनों प्रबल हैं (ं) न तो घ् और न ही घ्घ् प्रबल है
(म्) केवल घ्घ्घ् प्रबल है (्) घ् और घ्घ्घ् दोनों प्रबल हैं
(ा) इनमें से कोई नहीं
३५. कथन क्या, भारत के प्रत्येक परिवार से कम-से-कम एक सदस्य को
सरकारी नौकरी दी जानी चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, भारत में गरीबी उन्मूलन का यही एक तरीका है।
घ्घ्. हाँ, इससे अल्प सुविधा प्राप्त वर्ग की आर्थिक स्थिति में काफी अधिक
सुधार आएगा।
घ्घ्घ्. नहीं, बहुत-से परिवारों की आय वैसे ही काफी अधिक है, इसलिए ऐसे
परिवारों को ऐसी योजना के दायरे से बाहर रखा जाना चाहिए।
(a) केवल घ् प्रबल है (ं) केवल घ्घ् प्रबल है
(म्) केवल घ्घ्घ् प्रबल है (्) घ्घ् और घ्घ्घ् दोनों प्रबल हैं
(ा) इनमें से कोई नहीं
३६. कथन क्या, देश के सभी इन्जीनियिंरग कॉलेजों में दाखिले के एकसमान
पात्रता मानदण्ड होने चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, प्रत्येक कॉलेज को दाखिले का पात्रता मानदण्ड तय करने की
स्वतन्त्रता दी जानी चाहिए।
घ्घ्. हाँ, इससे विभिन्न कॉलेजों से पास होकर निकलने वाले इन्जीनियरों में
समानता सुनिश्चित होगी।
घ्घ्घ्. हाँ, बहुत-से कॉलेज बड़ी संख्या में ऐसे छात्रों को दाखिला दे देते हैं, जो
अपनी इन्जीनियिंरग की डिग्री पूरी करने के योग्य नहीं होते।
(एब्ह्ग्म्aूा ँaहव् झ्ध् २००९)
(a) सभी तर्क प्रबल हैं (ं) घ् और घ्घ् दोनों प्रबल हैं
(म्) घ् और घ्घ्घ् दोनों प्रबल हैं (्) घ्घ् और घ्घ्घ् दोनों प्रबल हैं
(ा) इनमें में से कोई नहीं
३७. कथन क्या, सरकार को पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की खुदरा कीमतों
का अविनियमन कर कीमतों को बाजार की स्थिति के अनुसार चलने
देना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, इससे तेल कम्पनियों को अपने उत्पाद प्रतिस्पर्द्धी कीमत पर बेचने में
बहुत सहायता होगी।
घ्घ्. नहीं, आम जनता इन उत्पादों के लिए बाजार आधारित कीमतें अदा
करने के लिए समर्थ नहीं है।
घ्घ्घ्. हाँ, सरकार को इन उत्पादों के लिए सहायकी बन्द कर देनी चाहिए
और धन विकास परियोजनाओं में लगाना चाहिए।
(a) घ् और घ्घ् दोनों प्रबल हैं (ं) घ् और घ्घ्घ् दोनों प्रबल हैं
(म्) घ्घ् और घ्घ्घ् दोनों प्रबल हैं (्) ये सभी
(ा) इनमें से कोई नहीं
३८. कथन क्या, सरकार को देशभर की सभी प्राइवेट पेसेन्जर ट्रान्सपोर्ट
कम्पनियों का अधिग्रहण कर लेना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, जैसे सरकार रेल चलाती है, वैसे ही यह किया जाना चाहिए।
घ्घ्. नहीं, ऐसे परिचालन हैण्डल करने की विशेषज्ञता सरकार के पास नहीं है।
घ्घ्घ्. हाँ, इस प्रकार आम जनता को प्राइवेट ट्रान्सपोर्ट कम्पनियों के चंगुल से
छुड़ाया जा सकता है।
(a) केवल घ् प्रबल है (ं) घ् और घ्घ् दोनों प्रबल हैं
(म्) घ्घ् और घ्घ्घ् प्रबल हैं (्) ये सभी
(ा) इनमें से कोई नहीं
३९. कथन क्या, घ्घ्ऊे और घ्घ्श्े जैसे उच्च शिक्षा संस्थानों को भारत सरकार के
नियन्त्रण से पूर्णत: मुक्त कर दिया जाना चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, विकसित देशों में ऐसे संस्थान गैर-सरकारी एजेन्सियों द्वारा चलाए
जाते हैं।
घ्घ्. नहीं, सरकार को राष्ट्रीय हित में इन संस्थानों का नियन्त्रण
करना चाहिए।
घ्घ्घ्. नहीं, ये संस्थान निर्बाध कार्य करने सम्बन्धी नीति विषयक निर्णय लेने
के लिए सक्षम नहीं हैं।
(a) केवल घ् प्रबल है (ं) केवल घ्घ् प्रबल है
(म्) केवल घ्घ्घ् प्रबल है (्) घ् और घ्घ्घ् दोनों प्रबल हैं
(ा) इनमें से कोई नहीं
४०. कथन क्या, भारत में संसद के चुनाव देशभर में एक ही दिन में किए जाने
चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, ऐसे चुनावों को हैण्डल करने का यही एक तरीका है।
घ्घ्. हाँ, इससे आयोग को एक ही दिन में चुनाव सम्बन्धी मसलों पर ध्यान
कोfन्द्रत करने में सहायता मिलेगी।
घ्घ्घ्. नहीं, कुछ अन्य देश अलग-अलग दिनों में ऐसे चुनाव करते हैं।
(a) कोई प्रबल नहीं है (ं) केवल घ् प्रबल है
(म्) केवल घ्घ् प्रबल है (्) केवल घ्घ्घ् प्रबल है
(ा) घ् और घ्घ् दोनों प्रबल हैं
४१. कथन क्या, देश में केन्द्र सरकार और सभी राज्य सरकारों के कर्मचारियों
का वेतन ढाँचा एकसमान होना चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, राज्य सरकार को अपने कर्मचारियों का वेतन ढाँचा निर्धारित
करने की स्वतन्त्रता होनी चाहिए।
घ्घ्. नहीं, केन्द्र सरकार और राज्य सरकार के कर्मचारियों के कार्यभार और
उत्तरदायित्व भिन्न होते हैं। अत: वेतन ढाँचा अलग-अलग होना चाहिए।
घ्घ्घ्. हाँ, सभी सरकारी कर्मचारी हैं और इसलिए उनसे समान व्यवहार किया
जाना चाहिए, चाहे वे केन्द्र सरकार के साथ काम कर रहे हों या राज्य
सरकार के साथ। (एँघ् झ्ध् २०१०)
(a) केवल घ् प्रबल है (ं) घ् और घ्घ्घ् दोनों प्रबल हैं
(म्) केवल घ्घ्घ् प्रबल है (्) घ्घ् और घ्घ्घ् दोनों प्रबल हैं
(ा) इनमें में से कोई नहीं
४२. कथन क्या, भारत में थर्मल पावर प्लाण्ट लगाने पर पूर्ण प्रतिबन्ध होना
चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, पर्यावरणिक प्रदूषण में वृद्धि रोकने का यही एकमात्र तरीक है।
घ्घ्. नहीं, देश के अधिकांश भागों में बिजली की बहुत कमी है। अत: बिजली
का उत्पादन बढ़ाने की जरूरत है।
घ्घ्घ्. नहीं, बहुत-से विकसित देशों ने अपने यहाँ थर्मल पावर प्लाण्ट लगाना
जारी रखा है।
(a) कोई प्रबल नहीं है (ं) केवल घ् प्रबल है
(म्) केवल घ्घ् प्रबल है (्) केवल घ्घ्घ् प्रबल है
(ा) न तो घ् और न ही घ्घ् प्रबल है
४३. कथन क्या, बड़े शहरों में सड़क की मरम्मत का काम केवल देर रात को
किया जाना चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, इस तरह काम कभी पूरा नहीं होगा।
घ्घ्. नहीं, बिजली का अनावश्यक उपयोग होगा।
घ्घ्घ्. हाँ, दिन के दौरान मरम्मत का काम होने पर आने-जाने वालों को बहुत
कठिनाई होगी।
(a) कोई प्रबल नहीं है (ं) केवल घ् प्रबल है
(म्) केवल घ्घ्घ् प्रबल है (्) घ्घ् और घ्घ्घ् दोनों प्रबल हैं
(ा) घ् और घ्घ् दोनों प्रबल हैं
४४. कथन क्या, सभी मानित विश्वविद्यालयों की मान्यता रद्द कर उन्हें भारत
में किसी केन्द्रीय या राज्य विश्वविद्यालय के साथ जोड़ दिया जाना
चाहिए?
तर्क घ्. हाँ, इन मानित विश्वविद्यालयों में से कई सम्पूर्ण विश्वविद्यालयों के
आवश्यक मानकों के समनुरूप नहीं हैं। अत: शिक्षा के स्तर के साथ
समझौता किया जाता है।
घ्घ्. नहीं, ये मानित विश्वविद्यालय विभिन्न उद्योगों की आवश्यकताओं के
उपयुक्त नवीन पाठ्यक्रम लागू कर पाए हैं, क्योंकि ये सख्त सरकारी
नियन्त्रणों से मुक्त हैं।
घ्घ्घ्. हाँ, ऐसे बहुत-से विश्वविद्यालय मूलत: धन कमाने की गतिविधियाँ हैं
और इन संस्थानों में शिक्षा को कम महत्त्व दिया जाता है।
(a) घ् और घ्घ् दोनों प्रबल हैं (ं) घ्घ् और घ्घ्घ् दोनों प्रबल हैं
(म्) घ् और घ्घ्घ् दोनों प्रबल हैं (्) ये सभी
(ा) इनमें से कोई नहीं
४५. कथन क्या, भारत में िंसचाई हेतु भूमिगत जल खींचने पर उच्चतम सीमा
लगाई जानी चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, भारत में खाद्यान्न उत्पादन हेतु िंसचाई बहुत महत्त्वपूर्ण है और
देश के बहुत-से भागों में यह भूमिगत जल पर अत्यधिक निर्भर है।
घ्घ्. हाँ, देश के कुछ भाग यहाँ िंसचाई प्राथमिकत: भूमिगत जल पर निर्भर
है, वहाँ भूमिगत जल का स्तर अत्यधिक नीचा चला गया है। इसका
नतीजा पर्यावरण के लिए गम्भीर हो सकता है।
घ्घ्घ्. हाँ, भारत अब और भूमिगत जल खींच नहीं सकता, क्योंकि
अन्तर्राष्ट्रीय एजेन्सियों ने भारत को इसके खिलाफ चेतावनी दी है।
(a) घ् और घ्घ् दोनों प्रबल हैं (ं) घ्घ् और घ्घ्घ् दोनों प्रबल हैं
(म्) घ् और घ्घ्घ् दोनों प्रबल हैं (्) ये सभी
(ा) इनमें से कोई नहीं
४६. कथन क्या, भारत के बड़े शहरों में बहुमंजिला इमारतों के निर्माण पर
प्रतिबन्ध लगना चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, भारत के बड़े शहरों में बढ़ती जनसंख्या के रहने के लिए खाली
जमीन के पर्याप्त प्लॉट नहीं हैं।
घ्घ्. हाँ, बहुमंजिला इमारतों के निर्माण से सिर्फ बिल्डरों और डवलपरों को
फायदा होता है।
घ्घ्घ्. हाँ, नयी बहुमंजिला इमारतों के निर्माण की अनुमति देने से पहले
सरकार को मौजूदा इमारतों को पर्याप्त संरचनात्मक सुविधाएँ उपलब्ध
करानी चाहिए।
(a) केवल घ्घ् प्रबल है
(ं) केवल घ्घ्घ् प्रबल है
(म्) घ् और घ्घ्घ् दोनों प्रबल हैं
(्) केवल घ् प्रबल है
(ा) उपरोक्त में से कोई नहीं
४७. कथन क्या बीयर बारों में २१ वर्ष से कम के युवकों को जाने की अनुमति
नहीं दी जानी चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, १८ वर्ष से अधिक के युवकों पर प्रतिबन्ध लगाना सही नहीं है, जो
वोट देने का अधिकार रखते हैं।
घ्घ्. हाँ, इस तरह के प्रवेशों का प्रवेश शुल्क भी बढ़ना चाहिए।
घ्घ्घ्. नहीं, पश्चिमी देशों में इस तरह का कोई अवरोध नहीं है।
घ्न्न्. हाँ, यह नवयुवकों को गलत लोगों के सम्पर्क तथा गलत व्यवहारों के
प्रति अवरोध उत्पन्न करेगा।
(a) केवल तर्क घ् ठोस है (ं) तर्क घ् और घ्घ् ठोस हैं
(म्) तर्क घ् और घ्न्न् ठोस हैं (्) तर्क घ्घ्घ् और घ्न्न् ठोस हैं
४८. कथन क्या देश के सभी प्रबन्धन संस्थान सरकार के नियन्त्रणाधीन होने
चाहिए?
तर्क घ्. नहीं, सरकार के पास इन संस्थानों को प्रभावशाली तरीके से चलाने के
लिए पर्याप्त साधन उपलब्ध नहीं हैं।
घ्घ्. नहीं, सभी संस्थानों को उनके सुचारू रूप से संचालन के लिए स्वन्त्रता
दी जानी चाहिए।
घ्घ्घ्. हाँ, इससे सभी छात्रों को स्तरीय शिक्षा प्रदान करने में सहायता
मिलेगी।
घ्न्न्. हाँ, इसके द्वारा ही शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार हो सकेगा।
(a) कोई भी तर्क ठोस नहीं है (ं) केवल तर्क घ्घ्घ् ठोस है
(म्) तर्क घ्, घ्घ् व घ्घ्घ् ठोस हैं (्) तर्क घ् व घ्घ्घ् ठोस हैं

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ten − seven =

error: Content is protected !!
Scroll to Top