भाषा कौशल

१. भाषा के अभिव्यक्तात्मक कौशल हैं
(१) सुनना, पढ़ना (२) सुनना, बोलना
(३) बोलना, लिखना (४) पढ़ना, लिखना
२. स्वाभाविक अभिव्यक्ति, कल्पनाशीलता,
कौशल और सोच को विकसित करना
(१) भाषा शिक्षण का एकमात्र उद्देश्य है।
(२) भाषा शिक्षण का उद्देश्य नहीं है।
(३) भाषा शिक्षण का एक महत्त्वपूर्ण उद्देश्य है।
(४) भाषा शिक्षण को किसी प्रकार की दिशा नहीं
देता।
३. निम्नलिखित में से कौन-सा श्रवण कौशल
शिक्षण का उद्देश्य है?
(१) श्रुत सामग्री के विषय के महत्त्वपूर्ण एवं
मर्मस्पर्शी विचारों, भावों एवं तथ्यों का चयन
करने की क्षमता प्रदान करना
(२) विद्यार्थियों में ध्वनियों, शब्दों का शुद्ध उच्चारण
तथा स्वर, गति, लय और प्रवाह के साथ पढ़ने
की योग्यता विकसित करना
(३) छात्रों को साहित्यिक गतिविधियों में भाग लेने
व सुनने के लिए प्रेरित करना
(४) उपरोक्त सभी
४. भाषा कौशलों के सन्दर्भ में कौन-सा कथन
उचित है?
(१) भाषा कौशलों के विकास में अभ्यास की अपेक्षा
भाषिक नियमों का ज्ञान आवश्यक है।
(२) विद्यालय में केवल पढ़ना, लिखना कौशलों पर
ही बल देना चाहिए।
(३) बच्चे केवल सुनना, बोलना, पढ़ना, लिखना
कौशल क्रम से ही सीखते हैं।
(४) भाषा के चारों कौशल परस्पर अन्त:
सम्बन्धित हैं।
५. श्रवण कौशल के शिक्षण के द्वारा
निम्नलिखित में से किस उद्देश्य की पूर्ति
की जा सकती है?
(१) छात्रों का मानसिक एवं बौद्धिक विकास करना
(२) छात्रों में भाषा व साहित्य के प्रति रुचि पैदा
करना
(३) श्रुत सामग्री का सारांश ग्रहण करने की
योग्यता विकसित करना
(४) उपरोक्त सभी
६. बोलना कौशल के विकास के लिए सबसे
अधिक महत्त्वपूर्ण सिद्ध हो सकता है
(१) श्रुतलेख
(२) कथा श्रवण
(३) परस्पर वार्तालाप
(४) सुनी गई सामग्री का ज्यों-का-त्यों प्रस्तुतीकरण
Aäास्ु र्ळैं
७. निम्नलिखित में से कौन-सा मौखिक
अभिव्यक्ति का महत्त्व नहीं है?
(१) रोजमर्रा के कार्य-कलापों में मौखिक भाषा
प्रयुक्त होती है।
(२) भाषा की शिक्षा मौखिक भाषा से प्रारम्भ
होती है।
(३) मौखिक भाषा के द्वारा नई-नई जानकारियाँ
मिलती हैं भले ही वह विचारों के आदान-प्रदान
में सहायक नहीं हों।
(४) अशिक्षित व्यक्ति बोलचाल के द्वारा ही ज्ञान
अर्जित करता है।
८. मौखिक अभिव्यक्ति में निम्नलिखित में से
कौन-सी विशेषता नहीं होनी चाहिए?
(१) शुद्धता
(२) प्रवाहमयता
(३) श्रोताओं से काफी उच्च स्तर की भाषा का प्रयोग
(४) अवसरानुकूल
९. पढ़ने की संस्कृति के विकास के क्रम में
……. पठन को प्रोत्साहित किए जाने की
आवश्यकता है।
(१) वैयक्तिक (२) सस्वर
(३) मौन (४) सामूहिक
१०. कविता-कहानियों पर चर्चा करने एवं प्रश्न
पूछने का उद्देश्य
(१) भाषा सीखने की प्रक्रिया में स्वाभाविकता
लाता है।
(२) आकलन का काम करता है।
(३) रोचकता और जोश लाता है।
(४) अध्यापक के काम को सरल बनाता है।
११. बच्चों की पठन कुशलता का विकास करने
में सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण है
(१) भाषिक संरचनाओं का अभ्यास
(२) अर्थ की अपेक्षा उच्चारणगत शुद्धता पर विशेष
ध्यान देना
(३) विभिन्न सन्दर्भों से जुड़ी सामग्री
(४) पाठ्य-पुस्तक में दिए गए अभ्यास
१२. पाठ्य-वस्तु का भावपूर्ण पठन
(१) पठन की पहली और अनिवार्य शर्त है।
(२) अर्थ को समझने में मदद करता है।
(३) केवल कविताओं पर ही लागू होता है।
(४) पठन का एकमात्र आदर्श रूप है।
१३. पढ़ने की कुशलता का विकास करने के
लिए आवश्यक है कि
(१) बच्चों को शब्दार्थ जानने के लिए बाध्य किया जाए।
(२) बच्चों को विविध प्रकार की विषय-सामग्री
उपलब्ध कराई जाए।
(३) बच्चों को द्रुत गति से पढ़ने के लिए बाध्य
किया जाए।
(४) बच्चों को बोल-बोलकर पढ़ने के लिए निर्देश
दिए जाए।
१४. आप सस्वर पठन में अनिवार्यत: किस
साहित्यिक विधा का समर्थन करेंगे?
(१) एकांकी का (२) यात्रा वृत्तान्त का
(३) जीवनी का (४) आत्मकथा का
१५. मौन पठन में मुख्यत:
(१) शब्द भण्डार विकसित किया जाता है।
(२) मन-ही-मन बुदबुदाते हुए पढ़ा जाता है।
(३) गहन अर्थ को आत्मसात करने का प्रयास
किया जाता है।
(४) तेज गति से पाठ को पढ़ा जाता है।
१६. एकांकी पढ़ने का सबसे अच्छा तरीका है
(१) बच्चों से अलग-अलग पात्रों के संवाद पढ़वाए
जाएँ और फिर एकांकी का मंचन हो
(२) एकांकी को बच्चे घर से पढ़कर आएँ और
कक्षा में शिक्षक सवाल पूछें
(३) शिक्षक स्वयं पढ़ते हुए सवाल पूछते जाएँ
(४) शिक्षक स्वयं पढ़ें और बच्चे सुनें
१७. निम्नलिखित में से कौन-सा मौन पठन का
महत्त्व नहीं है?
(१) मौन वाचन में नेत्र तथा मस्तिष्क अक्रिय
रहते हैं।
(२) मौन वाचन में थकान कम होती है, क्योंकि
इसमें वाग्यन्त्रों पर जोर नहीं पड़ता।
(३) मौन वाचन अवकाश का सदुपयोग करता है।
(४) मौन वाचन के समय पाठक एकाग्रचित्त होकर
ध्यान केन्द्रित करके पढ़ता है।
१८. उच्च प्राथमिक स्तर पर लेखन कौशल के
विकास का कौन-सा उद्देश्य सबसे कम
महत्त्वपूर्ण है?
(१) सुनी, समझी, पढ़ी हुई बातों को सहज और
स्वाभाविक लेखन द्वारा अभिव्यक्त करने की
क्षमता का विकास करना
(२) सन्दर्भानुसार मुहावरे, लोकोक्तियों का प्रयोग
करते हुए लिखित अभिव्यक्ति को प्रभावी बनाना
(३) प्रसिद्ध लेखकों की लेखन शैली की समीक्षा करना
(४) सृजनात्मक लेखन द्वारा निज शैली का विकास
करना
१९. भाषा के अभिव्यक्तात्मक कौशल हैं
डण्ऊEऊ व्ल्ह २०११़
(१) बच्चों की कल्पनाशव्िाäत व चिन्तन शक्ति का
विकास होता है।
(२) बच्चे प्रसन्न होते हैं।
(३) बच्चे कक्षा में एकाग्रचित्त होकर शान्त बैठते हैं।
(४) बच्चे अनुशासित रहते हैं।
२०. बच्चों की मौखिक अभिव्यक्ति का विकास
करने के लिए सबसे कम प्रभावी तरीका
कौन-सा है? डण्ऊEऊ व्aह २०१२़
(१) संवाद-अदायगी
(२) व्याकरण-आधारित संरचना-अभ्यास
(३) अपने अनुभवों का वर्णन
(४) बातचीत करना
२१. पढ़ने का प्रारम्भ डण्ऊEऊ व्ल्त् २०१३़
(१) वर्णमाला से होना चाहिए।
(२) कहानियों से होना चाहिए।
(३) कविताओं से होना चाहिए।
(४) अर्थपूर्ण सामग्री से होना चाहिए।
२२. लिखना डण्ऊEऊ इां २०१४़
(१) एक बेहद जटिल प्रक्रिया है।
(२) एक अनिवार्य कुशलता है, जिसे जल्दी प्राप्त
किया जाना है।
(३) एक तरह की बातचीत है।
(४) यह अत्यन्त यान्त्रिक प्रक्रिया है।
२३. पढ़ना सीखने की प्रक्रिया में किसकी भूमिका
सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण है? डण्ऊEऊ एाज् २०१४़
(१) भाषा-प्रयोगशाला की
(२) बाल-साहित्य के सार्थक प्रयोग की
(३) पाठ्य-पुस्तक की
(४) भाषा-परीक्षाओं की
२४. भाषा शिक्षण में बालक में मौखिक कौशल
के विकास के लिए …….. सबसे कम
महत्त्वपूर्ण है। डण्ऊEऊ इां २०१५़
(१) किसी विषय पर चर्चा करना
(२) बच्चों की बात को धैर्य से सुनना
(३) प्रश्नों के उत्तर पूछना
(४) अपनी बात कहने का पूरा अवसर देना
२५. भाषा की कक्षा में कहानी सुनाने का मूल
उद्देश्य है डण्ऊEऊ एाज् २०१५़
(१) बच्चों की कल्पनाशक्ति का विकास
(२) बच्चों में ‘सुनकर दोहराने’ की आदत का
विकास
(३) बच्चों को अनुशासन में रखना
(४) बच्चों का मनोरंजन करना
२६. पढ़ना सीखने के लिए कौन-सा उपकौशल
अनिवार्य नहीं है? डण्ऊEऊ एाज् २०१६़
(१) भावनात्मक सम्बन्ध
(२) वर्णमाला याद करने का कौशल
(३) अनुमान लगाने का कौशल
(४) भाषा की संरचना की समझ
२७. सार्थक पढ़ते समय कभी-कभी वाक्यों,
शब्दों की पुनरावृत्ति करता है। यह भाषायी
व्यवहार दर्शाता है कि डण्ऊEऊ अम् २०१८़
(१) उसे लम्बे शब्दों को पढ़ने में कठिनाई होती है।
(२) वह पढ़ने में अधिक समय लेता है।
(३) वह अटक-अटक कर ही पढ़ सकता है।
(४) वह समझ के साथ पढ़ने की कोशिश करता है।
२८. आपके विचार से प्राथमिक स्तर पर उत्कृष्ट
लेखन कार्य का उदाहरण है
डण्ऊEऊ अम् २०१८़
(१) किसी आँखों-देखी घटना का लिखित वर्णन
करना
(२) ‘छुट्टियाँ वैâसे मनाई? इस विषय पर
अनुच्छेद लिखना
(३) ‘मेरे सपनों का भारत’ विषय पर अनुच्छेद
लिखना
(४) पाठ्य-पुस्तक से इतर कठिन शब्दों का
श्रतुलेखन
२९. पाँचवीं कक्षा की सुहानी ‘पाँचों, किन्हें,
आँखें, दोनों’ आदि शब्द लिखती है। आप
सुहानी के लेखन क्षमता के बारे में क्या
कहेंगे? डण्ऊEऊ अम् २०१९़
(१) वह अनुनासिक चिह्न का प्रयोग बिलकुल नहीं
जानती।
(२) वह अनुनासिक चिह्न के प्रयोग के प्रति सजग है।
(३) वह अनुनासिक चिह्न के प्रयोग के प्रति।
लापरवाह है।
(४) वह अनुनासिक चिह्न के नियम का अति
सामान्यीकरण करती है।
Aह्रास ६ : ्रस्fस् प्त्र् स्ख्रं २१७
ढ्व्न्न् ्fस़् ‘| हब्र्‍्नद व्E र्ळैं
३०. प्राथमिक स्तर पर पढ़ना सीखने में सबसे
कम महत्त्वपूर्ण है डण्ऊEऊ अम् २०१९़
(१) अनुमान लगाना (२) सन्दर्भानुसार अर्थ
(३) अक्षरों की पहचान (४) पढ़ने का उद्देश्य
३१. भाषा कौशल के सम्बन्ध में कौन-सा कथन
सही नहीं है? डण्ऊEऊ व्ल्त् २०१९़
(१) भाषा कौशल एक क्रम में ही अर्जित किए
जाते हैं।
(२) भाषा कौशल एक-दूसरे को प्रभावित करते हैं।
(३) भाषा कौशल एक-दूसरे से सम्बन्धित हैं।
(४) भाषा कौशल एक क्रम में अर्जित नहीं किए
जाते।
३२. पढ़ने की प्रक्रिया में सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण है
डण्ऊEऊ व्ल्त् २०१९़
(१) प्रवाह (२) अक्षर-ज्ञान
(३) अर्थ (४) गति
३३. बच्चों को लिखना सिखाने में सबसे अधिक
महत्त्वपूर्ण है डण्ऊEऊ व्ल्त् २०१९़
(१) काव्यात्मक भाषा
(२) विचारों की अभिव्यक्ति
(३) सुन्दर लेखन
(४) वर्तनी की शुद्धता
३४. मौखिक भाषा का आकलन ……….. पर
सर्वाधिक बल देता है। डण्ऊEऊ व्aह २०२१़
(१) धाराप्रवाह की तीव्रता
(२) संस्कृतनिष्ठ शब्दों का प्रयोग
(३) उच्चारणगत शुद्धता
(४) विचारों की क्रमबद्धता
३५. कक्षा एक में लिखना ……….. से प्रारम्भ
होता है। डण्ऊEऊ व्aह २०२१़
(१) वाक्य लिखने (२) शुरू से
(३) अक्षर लिखने (४) चित्र बनाने
३६. भाषा कौशलों के बारे में आप किस विचार
से सहमत हैं? डण्ऊEऊ व्aह २०२१़
(१) ये एक-दूसरे को प्रभावित नहीं करते।
(२) ये सभी एकसाथ नहीं सीखे जा सकते।
(३) ये एक निश्चित क्रम में सीखे जाते हैं।
(४) ये एक-दूसरे से अन्त:सम्बन्धित होते हैं।
३७. पठन अवबोधन किस प्रकार की योग्यता है?
(१) लिखित प्रतीकों को उनकी ध्वनियों में अनुवाद
करने की योग्यता
(२) प्रवाह में पढ़ने के लिए वर्णों को समझने तथा
उनके अर्थ खोलने की योग्यता
(३) पठन-सामग्री के साथ अन्त: क्रिया के द्वारा
अर्थ गढ़ने की योग्यता
(४) पठन-सामग्री में आए शब्दों को उनका अर्थ
जानने की योग्यता
३८. शिक्षक उभरते लेखकों में अच्छा लेखन
कौशल वैâसे विकसित कर सकते हैं?
डण्ऊEऊ अम् २०२१़
(१) विषय पर स्पष्ट निर्देश देकर तथा शब्द सीमा
तय करके
(२) शिक्षार्थियों के द्वारा किए गए अच्छे कार्य की
प्रशंसा करके तथा उसे आगे और सुधार करने
के लिए विशिष्ट टिप्पणी देकर
(३) शिक्षार्थियों को अच्छी लिखाई में लिखने के
लिए कहकर
(४) केवल उनकी व्याकरणिक त्रुटियों पर विस्तृत
प्रतिपुष्टि देकर
३९. एक अध्यापक ने कक्षा चार में अपने
शिक्षार्थियों को एक रोल प्ले द्वारा काम
दिया है, जिसमें उन्हें दी गई स्थिति पर
अपने विचारों का आदान-प्रदान करना है।
वह किस कौशल के संवर्द्धन पर काम कर
रही है? डण्ऊEऊ अम् २०२१़
(१) अभिनय (२) लेखन
(३) वाचन (४) पठन
४०. कक्षा घ् के बच्चों को पढ़ाने के लिए हमें
मौखिक भाषा के विकास पर अधिक ध्यान
केन्द्रित करना चाहिए।
निम्नलिखित में से कौन-सा कक्षा अभ्यास
कक्षा घ् के शिक्षार्थियों को मौखिक भाषा
कौशल में वृद्धि करने हेतु सूक्ष्म बनाता है?
डण्ऊEऊ व्aह २०२२़
(१) रोल प्ले (२) व्याकरण खेल
(३) बालगीत गाना (४) वर्णमाला सीखना
४१. कक्षा में चर्चा के दौरान, कक्षा न्न् की एक
विद्यार्थी ‘भ्रष्टाचार के कारणों’ पर अपना
दृष्टिकोण प्रस्तुत करती है। इस दौरान न तो
वह दूसरों के विचारों से सहमति प्रकट कर
रही है और न ही वह दूसरे के दृष्टिकोण
से विषय-वस्तु को देखने की कोशिश कर
रही है। पियाजे के अनुसार, वह किस प्रकार
के भाषण में शामिल है?डण्ऊEऊ व्aह २०२२़
(१) आत्म केन्द्रित भाषण (२) सामाजिक भाषण
(३) व्यक्तिगत भाषण (४) निजी भाषण
४२. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या रूपरेखा २००५ के आधार
पर ‘पठन कौशल’ से क्या तात्पर्य है?
डण्ऊEऊ व्aह २०२२़
(१) शुद्ध उच्चारण करना
(२) अक्षरों को पढ़ना
(३) समझ के साथ पढ़ना
(४) कठिन वाक्यों को पढ़ना
४३. निम्नलिखित में से कौन-सा लेखन कौशल
का उच्चतम स्तर है? डण्ऊEऊ व्aह २०२२़
(१) सही वर्तनी
(२) संयुक्ताक्षर लिखना
(३) लेख लिखना
(४) वाक्यों में कठिन शब्दों का प्रयोग करना
४४. विद्यार्थियों को दी जा रही गतिविधियों पर
विचार करें। निम्नलिखित में से कौन-सी
गतिविधि सम्प्रेषण कौशल विकसित करने
के लिए आप जानना चाहेंगे।
डण्ऊEऊ व्aह २०२२़
A. वह एक अभिनेता ……….. है/हैं।
ँ. सप्ताहांत पर, मैं सुबह ……….. जा रहा
हूँ, फिर मैं शाम ५ बजे तक ………..
वापस आऊँगा ………..।
ण्. अपने मित्र से पूछें कि वह सप्ताहांत में
कहाँ जाना पसन्द करता है और क्यों?
D. अपने सहपाठी से उन दो बिन्दुओं के बारे
में पूछें जिनका ध्यान वे समूह चर्चा के
समय रखती/रखते हैं।
कूट
(१) A, ँ और ण् (२) ँ और ण्
(३) A और ँ (४) ण् और D
४५. कक्षा पाँच की एक अध्यापक पाँच या छ:
शब्दों वाले पाँच वाक्यों का श्रुतलेख
करवाती है। वह दो बार वाक्य पढ़ती है
और शिक्षार्थियों को ध्यानपूर्वक सुनने के
लिए कहती है और बोले गए वाक्यों को
लिखने के लिए कहती है।
यहाँ पर अध्यापक श्रवण के किस उपागम
का प्रयोग करना चाहती है?
डण्ऊEऊ व्aह २०२२़
(१) शीर्ष पाद उपागम (टॉप डाउन)
(२) सम्प्रेषणात्मक उपागम
(३) ऊर्ध्वगामी उपागम (बॉटम अप)
(४) श्रुतलेख उपागम
४६. निम्नलिखित में से कौन-सा पठन शिक्षण
का उद्देश्य नहीं है? डण्ऊEऊ व्aह २०२२़
(१) पाठ्य-सामग्री के मुख्य बिन्दु को पाठक के पूर्व
ज्ञान से जोड़ना
(२) शब्दों, वाक्यांशों, भाषाओं के नमूनों से अर्थ
ग्रहण करना
(३) पाठ्य-सामग्री को पढ़ते समय अर्थ ग्रहण करना
(४) पाठ्य-सामग्री, शब्द और वाक्यांशों को डिकोड
करना

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

10 − one =

error: Content is protected !!
Scroll to Top