सतत एवं व्यापक मूल्यांकन

1. मूल्यांकन के बारे में कौन-सा कथन सही है?
(अ) मूल्यांकन शिक्षक एवं शिक्षार्थी दोनों का
होता है
(ब) मूल्यांकन शिक्षण अधिगम प्रक्रिया का एक
सोपान है
(स) मूल्यांकन निरन्तर चलने वाली प्रक्रिया है
जिसका शैक्षिक उद्देश्य से निकट का सम्बन्ध
होता है
(द) उपरोक्त सभी
2. निम्नलिखित में से कौन-सा सतत् एवं
व्यापक मूल्यांकन के उद्देश्य में शामिल
होता है?
1. मूल्यांकन सीखने की प्रक्रिया पर बल
देना न कि याद रखने पर बल देता है।
2. मूल्यांकन, बोधात्मक, मनोप्रेरक और
भावात्मक कौशलों के विकास में
सहायता प्रदान करता है।
(अ) केवल 1
(ब) केवल 2
(स) 1 और 2 दोनों
(द) न तो 1 और न ही 2
3. निम्नलिखित में से बच्चे का आकलन करने
का वह सर्वश्रेष्ठ तरीका कौन-सा होगा
जिसमें बच्चों का आकलन योजनाबद्ध तथा
पारदर्शी होता है?
(अ) गृह कार्य (ब) योगात्मक कार्य
(स) पोर्टफोलियो (द) आवधिक परीक्षाएँ
4. सहयोगात्मक अधिगम में बड़े और अधिक
दक्ष शिक्षार्थियों, छोटे और कम दक्ष
शिक्षार्थियों के आकलन की सबसे उपयोगी
विधि क्या होती है?
(अ) उच्च उपलब्धि और स्व-गरिमा
(ब) उच्च नैतिक विकास
(स) गहन प्रतियोगिता
(द) समूहों में द्वन्द्व
5. एक शिक्षिका संकल्पना पढ़ाते समय
विद्यार्थियों से अक्सर प्रतिपुष्टि (fाा्ंaम्व्)
लेती है।
(अ) इस क्रिया को ‘रूपात्मक आकलन’ कहा जा
सकता है
(ब) यह क्रिया विद्यार्थियों की चिन्तन-प्रक्रिया में
व्यवधान उत्पन्न कर सकती है, अत: ऐसा नहीं
किया जाना चाहिए
(स) यह क्रिया शिक्षक को उसके उद्देश्यों की
प्राप्ति से विचलित कर सकती है
(द) यह क्रिया कक्षा में प्रेरक वातावरण का निर्माण
कर सकती है
6. पर्यावरण अध्ययन में आकलन हेतु
विद्यार्थियों की …….. की योग्यता के
परीक्षण पर अधिक बल दिया जाना चाहिए।
(अ) मुक्त अन्त वाले प्रश्नों के उत्तर देने
(ब) उच्च अधिगम के लिए पर्याप्त रूप से सक्षम होने
(स) विज्ञान के तथ्यों और सिद्धान्तों को सही रूप
में बताने
(द) दैनिक जीवन की अपरिचित परिस्थितियों में
संकल्पनाओं की समझ को व्यवहार में लाने
7. रचनात्मक आकलन का उपयोग शिक्षक
द्वारा किया जाता है जिसमें ……… शामिल
होता है।
A. भय रहित और सहयोगी वातावरण
ँ. शिक्षार्थियों की ग्रेडिंग और रैंकिंग
(अ) केवल A (ब) केवल ँ
(स) A और ँ दोनों (द) न तो A और न ही ँ
8. पर्यावरण अध्ययन में योगात्मक आकलन
को …….. पर बल देना चाहिए।
(अ) अवलोकन कौशलों का आकलन करने
(ब) विद्यार्थियों के अधिगम—कठिनाई वाले क्षेत्रों का
निदान करने
(स) मुख्य रूप से प्रायोगिक कौशलों का परीक्षण करने
(द) महत्त्वपूर्ण सैद्धान्तिक संकल्पनाओं का परीक्षण
करने
9. निम्नलिखित में से कौन-सा पर्यावरण
अध्ययन में रूपात्मक आकलन की मुख्य
विशेषता है?
(अ) इसका उद्देश्य है विद्यार्थियों में वैज्ञानिक
दृष्टिकोण का विकास करना
(ब) इसका उद्देश्य है प्रायोगिक कौशलों को
समुन्नत करना
(स) यह वर्ष के अन्त में आयोजित किया जाता है
(द) यह अपनी प्रकृति में निदानात्मक है
10. निम्न में से किसका आकलन हो सकता है
जब गीता ‘मनुष्य में पोषण’ विषय का
केवल बहुविकल्पीय प्रश्नों द्वारा मूल्यांकन
कर रही है?
(अ) भोजन सम्बन्धी आदतों से जुड़ी गलत
अवधारणाएँ
(ब) शिक्षार्थियों के ज्ञान का प्रयोग करके रोल-प्ले
तैयार करके प्रार्थना सभा में प्रस्तुत करने की
क्षमता
(स) भोज्य अवयवों के महत्त्व को समझने की
शिक्षार्थियों की क्षमता व उस पर एक लम्बा
निबन्ध लिखने की क्षमता
(द) भोज्य पदार्थों को वर्गीकृत करने व पोस्टर
बनाने के लिए विश्लेषण क्षमता
11. पर्यावरण अध्ययन के शिक्षण में मूल्यांकन
हेतु प्रयोगात्मक परीक्षणों का महत्त्व है
(अ) बच्चे के व्यवहार की जाँच करना
(ब) बच्चे में सृजनात्मकता का मूल्यांकन करना
(स) बच्चे की रचनात्मक क्षमता की जाँच करना
(द) उपरोक्त सभी
12. रुचि कक्षा न्न् के Eन्न्ए विषय में नीचे दी
गई मूल्यांकन तकनीक का प्रयोग करती है
A. मौखिक परीक्षा
ँ. गृहकार्य मूल्यांकन
ण्. परियोजना कार्य मूल्यांकन
D. हस्तसिद्ध क्रियाकलापों का मूल्यांकन
Aह्रास 6 : ुन्न्न्न् E्श्च् ाास्हप्त्र् ‘ब्शस्श्च्प्त्रर्् ैं 553
त् यह शैक्षिक और सह-शैक्षिक क्षेत्रों में विद्यार्थियों की प्रगति के बारे में
सूचनाएँ/रिपोर्टें देता है और इस प्रकार शिक्षार्थी की भावी सफलताओं के
बारे में पूर्वानुमान लगाने में भी सहायता देता है।
त् सतत मूल्यांकन समय-समय पर बच्चे, अध्यापकों और माता-पिता को
उपलब्धि के बारे में जागरूक बनाने में काफी सहायता देता है। यदि
उपलब्धि में कोई कमी हुई हो, तो वे उसके सम्भाव्य कारणों की जाँच कर
सकते हैं और शिक्षा के उस क्षेत्र में, जिसमें अधिक जोर देने की
आवश्यकता हो, उपचारी उपाय कर सकते हैं।
त् कभी-कभी कुछ वैयक्तिक कारणों से, पारिवारिक समस्याओं अथवा
समायोजन की समस्याओं के कारण, बच्चे अपने अध्ययन की उपेक्षा
करना शुरू कर देते हैं, जिसके परिणामस्वरूप उनकी उपलब्धि में गिरावट
आने लगती है। यदि अध्यापक, बच्चे और माता-पिता की उपलब्धि में
अचानक आई गिरावट का पता न चले, तो बच्चे द्वारा अपने अध्ययन की
उपेक्षा लम्बे समय तक की जाती रहती है और इसके परिणामस्वरूप
उपलब्धि निम्नस्तरीय हो जाती है।
त् सतत और व्यापक मूल्यांकन का मुख्य जोर विद्यार्थियों की निरन्तर संवृद्धि
पर और उनका बौद्धिक, भावनात्मक, शारीरिक, सांस्कृतिक और सामाजिक
विकास सुनिश्चित करने पर होता है।
त् इसलिए यह विद्यार्थी की केवल शैक्षिक उपलब्धियों को आँकने तक
सीमित नहीं होता है। यह मूल्यांकन का उपयोग शिक्षार्थियों को अन्य
कार्यक्रमों के लिए अभिप्रेरित करने, सूचना प्रदान करने, फीडबैक की
व्यवस्था करने और शिक्षा प्राप्ति में सुधार करने के लिए अनुवर्ती कार्रवाई
करने और शिक्षार्थी के विवरणों की एक व्यापक तस्वीर प्रस्तुत करने के
एक साधन के रूप में करता है।
Aäास्ु र्ळैं
उपरोक्त लिखी गई तकनीकों का कौन-सा
युग्म अधिक सटीक व वस्तुनिष्ठ मूल्यांकन
दे सकता है?
(अ) A और ँ (ब) A और ण्
(स) A और D (द) ँ और ण्
13. पर्यावरण अध्ययन के शिक्षण में मूल्यांकन
का उद्देश्य क्या होना चाहिए?
(अ) छात्रों के पर्यावरण अध्ययन के सिद्धान्तों की
जानकारी का परीक्षण
(ब) छात्रों के पर्यावरण अध्ययन के व्यावहारिक
ज्ञान का परीक्षण
(स) छात्रों की विज्ञान में रुचि का परीक्षण
(द) उपरोक्त में से कोई नहीं
14. एक विज्ञान शिक्षक के दृष्टिकोण से किस
स्तर पर औपचारिक मूल्यांकन नहीं होना
चाहिए?
(अ) प्राथमिक स्तर (ब) उच्च प्राथमिक स्तर
(स) माध्यमिक स्तर (द) उच्च माध्यमिक स्तर
15. सतत एवं व्यापक मूल्यांकन का अर्थ है
(अ) अध्यापकों का विद्यालय आधारित मूल्यांकन
(ब) विद्यालय आधारित मूल्यांकन जिसमें बाल
विकास के सभी पहलू शामिल हैं
(स) शिक्षार्थियों का विद्यालय आधारित मूल्यांकन
(द) विद्यालय आधारित मूल्यांकन जिसमें अध्यापक
और बालक के विकास के सभी पहलू
शामिल हैं
16. पर्यावरण अध्ययन के शिक्षण में मूल्यांकन
का उद्देश्य है
A. विश्वसनीय जानकारी
ँ. अधिगम प्रक्रिया में सुधार
ण्. पाठ्य-वस्तु की उपयुक्तता की जाँच
(अ) केवल A (ब) केवल ँ
(स) A और ँ (द) A, ँ और ण्
17. पर्यावरण की कक्षा में रूपात्मक आकलन
के कार्य में निम्नलिखित में से कौन-सा
शामिल है?
A. पाठ में दी गई महत्त्वपूर्ण शब्दावली की
परिभाषा की व्याख्या करना
ँ. दिए गए प्रयोगात्मक क्रियाकलापों को
पूरा करना और अपने अवलोकन को
दर्ज करना
ण्. दिए गए प्रयोगात्मक प्रारूप के चिह्नांकन
वाले आरेख बनाना।
(अ) A और ँ (ब) A और ण्
(स) ँ और ण् (द) A, ँ और ण्
18. प्राथमिक स्तर पर पर्यावरण अध्ययन के
आकलन में निम्नलिखित में से कौन-सा
संकेतक उपयुक्त है?
A. प्रश्न पूछना
ँ. सहयोग
ण्. न्याय और समानता के प्रति चिन्ता
(अ) A और ँ (ब) A और ण्
(स) ँ और ण् (द) A, ँ और ण्
19. पर्यावरण अध्ययन के शिक्षण में गुणात्मक
व्यवहार परिवर्तनों के मूल्यांकन हेतु
उपयुक्त तकनीक नहीं है
(अ) रेिंटग स्केल (ब) ग्रेिंडग व्यवस्था
(स) निबन्धात्मक परीक्षा (द) रूपात्मक आकलन
20. पर्यावरण अध्ययन के शिक्षक को
निम्नलिखित में से किसका मूल्यांकन नहीं
करना चाहिए?
(अ) बालक के अधिगम
(ब) पाठ्य सहगामी गतिविधियाँ
(स) बालक की उपलब्धि
(द) उपरोक्त में से कोई नहीं
21. प्राथमिक स्तर पर, आकलन में शामिल होना
चाहिए डण्ऊEऊ व्ल्ह 2011़
(अ) अर्द्ध-वार्षिक और वर्ष के अन्त में वार्षिक
परीक्षाएँ
(ब) छोटे बच्चों को उत्तीर्ण अथवा अनुत्तीर्ण की
श्रेणी के अन्तर्गत आँकने के लिए प्रत्येक
सप्ताह गृह-कार्य और कक्षा-कार्य
(स) शिक्षक द्वारा सतत और असंरचनात्मक तरीके
से किए गए अवलोकन को बच्चों और
अभिभावकों के साथ बाँटना
(द) प्रत्येक सप्ताह औपचारिक परीक्षाएँ और खेल
तथा उन्हें प्रगति पत्र में दर्ज करना
22. सहयोगात्मक अधिगम में पुराने एवं अधिक
दक्ष विद्यार्थी छोटे एवं कम कुशल
विद्यार्थियों का आकलन करते हैं।
डण्ऊEऊ र्‍दन् 2012़
(अ) समूहों में द्वन्द्व
(ब) गहन प्रतियोगिता
(स) उच्च उपलब्धि और स्व-गरिमा
(द) उच्च नैतिक विकास
23. प्राथमिक स्तर पर पर्यावरण अध्ययन में
रचनात्मक अवकलन ……….. को शामिल
नहीं करता। डण्ऊEऊ व्ल्त् 2013़
(अ) शिक्षार्थियों की ग्रेडिंग और रैंकिंग
(ब) शिक्षाथियों की अधिगम-रिक्तियों की पहचान
(स) शिक्षण में कमियों की पहचान
(द) शिक्षार्थियों के सीखने को बढ़ाने
24. नेहा कक्षा न्न् के Eन्न्ए विषय में नीचे दी गई
मूल्यांकन तकनीक का प्रयोग करती है
डण्ऊEऊ इां 2014़
A. हस्तसिद्ध क्रियाकलापों का मूल्यांकन
ँ. गृहकार्य मूल्यांकन
ण्. परियोजना कार्य मूल्यांकन
D. मौखिक परीक्षा
नीचे दिए गए तकनीकों का कौन-सा युगल
अधिक वस्तुनिष्ठ मूल्यांकन दे सकता है?
(अ) ँ और ण् (ब) A और D
(स) ँ और D (द) A और ँ
25. निम्न में से कौन-सा पर्यावरण की कक्षा में
रूपात्मक आकलन का समुचित कार्य
नहीं है? डण्ऊEऊ एाज् 2014़
(अ) पाठ में दी गई महत्त्वपूर्ण शब्दावली की
परिभाषा की व्याख्या करना
(ब) दिए गए प्रयोगात्मक क्रियाकलापों को पूरा
करना और अपने अवलोकन को दर्ज करना
(स) दिए गए प्रयोगात्मक प्रारूप के चिह्नांकन वाले
आरेख बनाना
(द) जल प्रदूषण की हानियों के बारे में चर्चा करना
26. पर्यावरण अध्ययन के शिक्षण से उस
प्रक्रिया पर आधारित कौशलों को बढ़ावा
दिया जाना चाहिए जो पूछताछ आधारित
प्रत्यक्ष अनुभवों के केन्द्र-बिन्दु हैं।
निम्नलिखित में से कौन-सा एक ऐसा
कौशल नहीं है? डण्ऊEऊ इां 2015़
(अ) पूर्वानुमान
(ब) निर्धारण
(स) निष्कर्ष निकालना
(द) अवलोकन
27. शिक्षार्थियों का आकलन करते समय
पर्यावरण अध्ययन की शिक्षिका को
निम्नलिखित में से क्या नहीं करना
चाहिए? डण्ऊEऊ एाज् 2015़
(अ) बच्चों के पूर्व आकलन के साथ तुलना करना
(ब) शिक्षार्थियों की सीखने की क्षमताओं को ध्यान
में रखकर सूचना दर्ज करना
(स) बच्चों के कार्य के केवल कुछ पक्षों पर ध्यान
केन्द्रित करना
(द) बच्चों के कार्य से सम्बन्धित गुणात्मक उल्लेख
करना
28. दिए गए प्रश्न को ध्यान से पढ़िए।
ङ्खक्या आपने अपने घर या स्कूल के
आस-पास जानवर देखे हैं जिनके छोटे
बच्चे हैं? अपनी नोटबुक में उनके नाम
लिखिए।ङ्ग
इस प्रश्न के माध्यम से किस प्रक्रमण
कौशल का आकलन किया गया है?
डण्ऊEऊ इां 2016़
(अ) वर्गीकरण एवं चर्चा
(ब) परिकल्पना एवं प्रयोग करना
(स) न्याय के लिए सरोकार
(द) अवलोकन एवं रिकॉर्डिंग
29. निम्नलिखित प्रश्नों को पढ़िए
डण्ऊEऊ एाज् 2016़
A. मैंने क्रियाकलाप की योजना कितनी
अच्छी बनाई?
ँ. मैंने योजना का अनुसरण कितना अच्छा
किया?
ण्. मेरी शक्तियाँ क्या थीं?
D. मुझे सचमुच कठिन क्या लगा?
554 ण्ऊEऊ ु³ुदु ‘स्ड्डैं्नa ह`स्द्म््aळr` Aर्ह्राौं E्श्च् ढारसस्ड्ड़
ढ्व्न्न् ्fस़् ‘| हब्र्‍्नद व्E र्ळैं
ऊपर दिए गए चार प्रकार के प्रश्नों के
उत्तरों से होगा
(अ) बच्चों और शिक्षकों, दोनों का स्व-आकलन
(ब) शिक्षक द्वारा समग्र आकलन
(स) बच्चों का स्व-आकलन
(द) शिक्षकों का स्व-आकलन
30. समूह कार्य से पर्यावरण अध्ययन कर रहे
बच्चों की सामाजिक-वैयक्तिक विशेषताओं
के आकलन के लिए निम्नलिखित में से
कौन-सा उपकरण सर्वाधिक उपयुक्त होगा?
(अ) दत्तकार्य डण्ऊEऊ एाज् 2016़
(ब) कागज-पेन्सिल परीक्षण3
(स) मौखिक प्रश्न
(द) निर्धारण मापनियाँ
31. निम्नलिखित में से पर्यावरण अध्ययन में
आकलन के लिए कौन-सा संकेतक नहीं
होना चाहिए? डण्ऊEऊ व्ल्त् 2019़
(अ) प्रश्न पूछना
(ब) न्याय और समानता के प्रति सरोकार
(स) सहभागिता
(द) याद करना
32. रेिंटग स्केल में कौन-सी तकनीक का
उपयोग होता है? डण्ऊEऊ व्ल्त् 2019़
(अ) अधिविन्यास (ब) लिखित प्रश्न
(स) अवलोकन (द) जाँच सूची
33. पर्यावरण अध्ययन में शिक्षक के द्वारा बच्चों
को स्वयं के आकलन के लिए अवसर देना
चाहिए। स्वत:आकलन है..ष्ठ।
डण्ऊEऊ व्ल्त् 2019़
(अ) सीखने के लिए आकलन
(ब) सी. सी. ई.
(स) सीखने के समान आकलन
(द) सीखने का आकलन
34. निम्नलिखित में से कौन-सा पर्यावरण
अध्ययन में सीखने का रचनात्मक आकलन
का साधन नहीं है डण्ऊEऊ अम् 2019़
(अ) पोर्टफोलियो (ब) क्रम निर्धारण मापनी
(स) वर्णन अभिलेख (द) वार्षिक उपलब्धि परीक्षण
35. निम्नलिखित में से क्या Eन्न्ए में आकलन
का एक व्यापक संकेतक नहीं है?
डण्ऊEऊ व्aह 2021़
(अ) समानता के प्रति सरोकार
(ब) अवधारणा मानचित्र
(स) सहयोग
(द) न्याय के प्रति सरोकार
36. पुनीत ने अपनी कक्षा 5 के शिक्षार्थियों को
मानव शरीर की एक रूपरेखा दी और उन्हें
भोजन विषय पढ़ाने से पहले पाचन तन्त्र
को बनाने को कहा। पुनीत चाहता था
डण्ऊEऊ व्aह 2021़
(अ) अच्छे ड्राइंग कौशलों वाले शिक्षार्थियों की
पहचान करना
(ब) पाचन की प्रक्रिया पर शिक्षार्थियों का मूल्यांकन
करना
(स) परीक्षण करना कि शिक्षार्थियों नामांकित आरेख
बना सकता है
(द) पाचन से सम्बन्धित शिक्षार्थि के विचारों को
प्राप्त करना
37. निम्नलिखित में से किस आकलन का
पर्यावरण अध्ययन की कक्षा में विद्यार्थियों
द्वारा आनन्द लिया गया है?
डण्ऊEऊ अम् 2021़
(अ) पेपर-पैंसिल परीक्षण
(ब) मौखिक प्रश्न
(स) पेपर पैंसिल परीक्षण की प्रतिपुष्टि
(द) पोर्टफोलियों द्वारा आकलन
38. निम्न में से कौन-सा ई. वी. एस के
आकलन का सूचक हो सकता है?
डण्ऊEऊ अम् 2021़
1. अवलोकन 2. सहयोग
3. याद (स्मृति) 4. प्रत्याह्वान
कूट
(अ) 1, 3 और 4 (ब) 2, 3 और 4
(स) 3 और 4 (द) 1 और 2
39. ई. वी. एस. में आकलन का संकेतक है
डण्ऊEऊ व्aह 2022़
(अ) कथन देना (ब) सूची बनाना
(स) स्मरण करना (द) चर्चा करना
40. ईवीएस में आत्म आकलन
डण्ऊEऊ व्aह 2022़
1. सीखने के लिए आकलन है।
2. सीखने के बारे में सीखना है।
3. उपलब्धियों और सीखने के परिणाम के
निर्णय में सीखना है।
4. सीखने का आकलन
कूट
(अ) केलव 3
(ब) 1, 3 और 4
(स) 1 और 3 केवल
(द) 1, 2 और 3
41. ईवीएस के सीखने को मजबूत करने के
लिए, आकलन का ध्यान केन्द्रित होना
चाहिए। डण्ऊEऊ व्aह 2022़
(अ) सीखने पर
(ब) सीखने के रूप में सीखने पर
(स) सीखने के लिए
(द) अनौपचारिक सीखने पर

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen − 5 =

error: Content is protected !!
Scroll to Top