राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा (NCF 2005)

1. राष्ट्रीय पाठ्चर्या की रूपरेखा-2005 का
उद्धरण निम्न में से किससे हुआ है?
(अ) सभ्यता और प्रगति (ब) गीतांजलि
(स) गोदान (द) विज्ञान एवं तकनीक
2. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा के
दिशा-निर्देश के अन्तर्गत आता है।
(अ) ज्ञान को स्कूल के बाहरी जीवन से जोड़ना
(ब) पढ़ाई रटंत प्रणाली से मुक्त हो
(स) परीक्षा को अपेक्षाकृत सरल बनाना
(द) उपरोक्त सभी
3. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा-2005 के
मार्गदर्शक सिद्धान्तों के विषय में सत्य कथन है
(अ) पाठ्यचर्या, पाठ्य-पुस्तक केन्द्रित होनी चाहिए।
(ब) अधिगम प्रक्रिया के अन्तर्गत न समझ आने
वाली अवधारणाओं को रखना चाहिए।
(स) स्कूल में प्राप्त ज्ञान को बाहरी जीवन से जोड़ा
जाना चाहिए।
(द) ऐसी अधिभावी पहचान की अवहेलना करनी
चाहिए, जो राष्ट्रीय चिन्ताओं पर आधारित हों।
4. निम्नलिखित में कौन-सा उदाहरण बच्चों
को पढ़ाई के दौरान सक्रिय रखता है?
A. अन्वेषण करना B. प्रश्न पूछना
C. वाद-विवाद करना
D. विचारों की रचना करना
कूट
(अ) A औरं B (ब) B और C
(स) C और D (द) A, B, C और D
5. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा-2005 के
अनुसार, बाल-केन्द्रित शिक्षाशास्त्र में
‘शिक्षा’ को किस प्रकार नियोजित करने की
आवश्यकता है?
(अ) अभिरुचियों के अनुरूप
(ब) आर्थिक स्तर के अनुरूप
(स) सामाजिक स्तर के अनुरूप
(द) शारीरिक स्तर के अनुरूप
6. बच्चों के शारीरिक एवं मनो-सामाजिक
विकास के लिए निम्न में से क्या
आवश्यक है?
(अ) योग (ब) औपचारिक खेल
(स) अनौपचारिक खेल (द) उपरोक्त सभी
7. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा-2005 के
अनुसार कक्षा में शिक्षक की भूमिका होनी
चाहिए
(अ) एक उत्प्रेरक के रूप में
(ब) एक आदेशक के रूप में
(स) एक नेता के रूप में
(द) उपरोक्त में से कोई नहीं
8. विवेचनात्मक शिक्षाशास्त्र खुले विमर्श और
विविध दृष्टिकोण के माध्यम से …… लेने
की प्रक्रिया को सरल बनाता है।
(अ) सामूहिक निर्णय (ब)एकल निर्णय
(स) स्व निर्णय (द) इनमें से कोई नहीं
9. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा-2005 के
अनुसार बच्चों के आकलन का सही
तरीका है
(अ) वार्षिक परीक्षाएB (ब) दैनिक गतिविधियाB
(स) अर्द्धवार्षिक परीक्षाएB (द) इनमें से कोई नहीं
10. यदि बच्चे फेल होते हैं, तो वे दर्शाते हैं
(अ) अपनी असफलता को
(ब) स्कूल की असफलता को
(स) समाज की असफलता को
(द) परिवार की असफलता को
11. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा-2005 के
अनुसार गणित शिक्षण का लक्ष्य होना
चाहिए
(अ) तार्किक ढंग से सोचना
(ब) अमूर्तनों का निर्माण करना
(स) संचालित करने की योग्यता का विकास करना
(द) उपरोक्त सभी
12. ….. की चिन्ताओं के प्रति जागरुकता को
सम्पूर्ण स्कूली पाठ्यचर्या में व्याप्त होना
चाहिए।
(अ) गणित (ब) पर्यावरण
(स) भाषा (द) मातृभाषा
13. कला विषय को स्कूली शिक्षा के किस स्तर
पर सम्मिलित किए जाने पर बल देना चाहिए?
(अ) पूर्व प्राथमिक (ब) प्राथमिक
(स) उच्च प्राथमिक (द)इन सभी स्तरों पर
14. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा-2005 किस
सूझ के आधार पर पाठ्यचर्या के बोझ को
कम करने पर बल देती है?
(अ) शिक्षा बोझ के साथ
(ब) शिक्षा बिना बोझ के
(स) शिक्षा पर्यावरण के साथ
(द) शिक्षा पर्यावरण के बिना
15. निम्नलिखित में से पाठ योजना का दर्शन
किसने दिया?
(अ) हरबर्ट (ब) गिलबर्ट (स) एलबर्ट (द) हजवर्ग
16. अनुशासन व्यक्ति के जीवन में बहुत
आवश्यक है, विशेषकर विद्यालय स्तर पर
जब इसकी आधारशिला रखी जाती है,
विद्यालय स्तर पर अनुशासन महत्त्व है
(अ) केवल शिक्षकों के लिए
(ब) केवल छात्रों के लिए
(स) शिक्षक एवं छात्र दोनों के लिए
(द) उपरोक्त में से कोई नहीं
17. शिक्षा के क्षेत्र में ‘पाठ्यचर्या’ शब्दावली
……. की ओर संकेत करती है।
डCऊEऊ व्ल्ह 2011़
(अ) शिक्षण-पद्धति एवं पढ़ाई जाने वाली विषय-वस्तु
(ब) विद्यालय का सम्पूर्ण कार्यक्रम जिसमें विद्यार्थी
प्रतिदिन अनुभव प्राप्त करते हैं
(स) मूल्यांकन-प्रक्रिया
(द) कक्षा में प्रयुक्त की जाने वाली पाठ्य-सामग्री
18. छोटे शिक्षार्थियों को कक्षा-कक्ष में
समवयस्कों के साथ अन्त:क्रिया करने के
लिए प्रोत्साहित करना चाहिए जिससे
डCऊEऊ व्aह 2012़
(अ) शिक्षक कक्षा-कक्षा को बेहतर तरीके से
नियन्त्रित कर सके।
(ब) वे एक-दूसरे से प्रश्नों के उत्तर सीख सकें।
(स) पाठ्यक्रम को बहुत जल्दी पूरा किया जा सके।
(द) वे पढ़ने के दौरान सामाजिक कौशल सीख
सकें।
19. एन. सी. एफ. 2005 के अनुसार, गलतियाB
इस कारण महत्त्वपूर्ण होती हैं
डCऊEऊ इां 2015़
(अ) यह विद्यार्थियों को ‘उत्तीर्ण’ एवं ‘अनुत्तीर्ण’
समूह में वर्गीकृत करने के लिए एक महत्त्वपूर्ण
उपकरण है।
(ब) यह अध्यापकों को बच्चों को डाBटने के लिए
एक तरीका उपलब्ध कराती है।
(स) यह बच्चे की विचार की अन्तर्दृष्टि उपलब्ध
कराती है तथा समाधानों को पहचानने में
सहायता करती है।
(द) यह कक्षा से कुछ बच्चों को हटाने के लिए
आधा स्थान उपलब्ध कराती है।
20. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा (एन. सी.
एफ.), 2005 के अनुसार शिक्षक की
भूमिका है डCऊEऊ एाज् 2016़
(अ) अधिनायकीय (ब) अनुमतिपरक
(स) सुविधादाता (द) सत्तावादी
21. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या प्रâेमवर्क-2005 ने अपनी
समझ …….. से प्राप्त की है।
डCऊEऊ अम् 2018़
(अ) संज्ञानात्मक सिद्धान्त
(ब) मानवतावाद
(स) व्यवहारवाद
(द) रचनावाद
22. किस तरह के पाठ्यक्रम को लागू करके
विद्यार्थियों की विफलता को कम किया जा
सकता है? डCऊEऊ व्aह 2022़
(अ) जो अत्यधिक चुनौतीपूर्ण और जटिल हो।
(ब) जो उनके दैनिक जीवन के लिए
अप्रासंगिक हो।
(स) जो उनके सामाजिक सन्दर्भ से जुड़ा हो।
(द) जो अमूर्त से सरल की ओर बढ़ता हो।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 + 2 =

error: Content is protected !!
Scroll to Top