अधिगम के सिद्धांत

1. पर्यावरण अध्ययन के अन्तर्गत निम्नलिखित
में से किस विषय का अध्ययन किया जाना
चाहिए?
(अ) भूगोल
(ब) स्वास्थ्य एवं पोषण
(स) जीव विज्ञान
(द) उपरोक्त सभी
2. पर्यावरण अध्ययन के सन्दर्भ में निम्नलिखित
में से कौन-सा कथन सत्य नहीं है?
(अ) पर्यावरण अध्ययन के अन्तर्गत मुख्य रूप से
जलमण्डल का अध्ययन किया जाता है
(ब) पर्यावरण अध्ययन का सम्बन्ध मानव स्वास्थ्य
से भी है
(स) पर्यावरण अध्ययन की शिक्षा की शुरूआत
प्राथमिक कक्षा से ही होनी चाहिए
(द) पर्यावरण अध्ययन की शिक्षा वर्तमान
परिस्थितियों को देखते हुए अनिवार्य होनी
चाहिए
3. पर्यावरण अध्ययन के शिक्षण के सन्दर्भ में
निम्नलिखित में से क्या महत्त्वपूर्ण है?
(अ) विषय-वस्तु का चयन सामाजिक परिप्रेक्ष्य में
होना चाहिए
(ब) भिन्न-भिन्न विषयों का एकीकरण होना चाहिए
(स) पाठ्यक्रम द्वारा छात्रों के सामाजिक,
भावनात्मक तथा आध्यात्मिक पक्षों के विकास
पर बल दिया जाना चाहिए
(द) उपरोक्त सभी
4. पर्यावरण अध्ययन का बालक के भविष्य से
क्या सम्बन्ध है?
(अ) बालक भविष्य में एक व्यक्ति के रूप में अपने
पर्यावरण में ही जीवन-यापन करेगा
(ब) पर्यावरण के ज्ञान के बाद बालक भविष्य में
इसका दोहन अच्छी तरह से कर पाएगा
(स) बालक भविष्य में इसी क्षेत्र में रोजगार प्राप्त
करेगा
(द) बालक के भविष्य से पर्यावरण का कोई सम्बन्ध
नहीं है
5. किस आयु वर्ग का बालक पर्यावरण में होने
वाली घटनाओं में जिज्ञासा तो अधिक रखता है,
लेकिन उसकी अवधारणाओं को समझने में
असमर्थ होता है?
(अ) 5 से 7 वर्ष (ब) 1 से 2 वर्ष
(स) 8 से 14 वर्ष (द) इनमें से कोई नहीं
6. पर्यावरण अध्ययन के शिक्षक होने के नाते
आप निम्नलिखित में से कौन-सा कार्य
करना पसन्द नहीं करेंगे?
(अ) विद्यालय परिसर की स्वच्छता के लिए
यथासम्भव प्रयास करते हुए आवश्यकता पड़ने
पर स्वयं भी इसमें सहयोग करना
(ब) विद्यालय में होने वाले समारोह के लिए खुली
जगह की आवश्यकता को देखते हुए विद्यालय
के उद्यान के पेड़-पौधों की कटाई करना
(स) पर्यावरण जागरूकता के लिए समय-समय पर
विभिन्न प्रकार के क्रियाकलापों में बच्चों को
संलिप्त करना
(द) बालकों की शारीरिक स्वच्छता पर ध्यान देते
रहना, जोकि उनके अच्छे स्वास्थ्य के लिए भी
आवश्यक है
7. तीसरी कक्षा के बच्चों को पर्यावरण की
स्वच्छता से सम्बन्धित शिक्षा प्रदान करने
का सबसे अच्छा तरीका क्या हो सकता है?
(अ) स्वच्छता पर एक व्याख्यान देना
(ब) स्वच्छता के लाभ की शिक्षा देने वाली एक
कहानी सुनाना
(स) बच्चों के शरीर एवं उसके परिवेश को स्वच्छ
रखते हुए उनमें स्वच्छता सम्बन्धी आदतों का
विकास करने सम्बन्धी विभिन्न गतिविधियों में
संलिप्त करना
(द) स्वच्छता पर व्याख्यान देने के बाद, इसके
लाभ की शिक्षा देने वाली एक कहानी सुनाना
8. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए
A. पर्यावरण मनुष्य के जीवन व उनकी
क्रियाओं पर प्रभाव डालता है।
ँ. पर्यावरण अध्ययन को प्राथमिक स्तर से
ही पढ़ाया जाना चाहिए।
उपरोक्त में से कौन-सा कथन सही है?
(अ) केवल A (ब) केवल ँ
(स) A और ँ दोनों (द) न तो A और न ही ँ
9. निम्नलिखित में कौन-सा कथन सही है?
A. पर्यावरण अध्ययन के अन्तर्गत मुख्य
रूप से जैवमण्डल का अध्ययन किया
जाता है।
ँ. पर्यावरण सम्बन्धित अच्छी आदतों के
विकास का प्रयास बाल्यकाल से ही
प्रारम्भ कर देना चाहिए।
ण्. पर्यावरण समस्याओं की जटिलता के
समस्या-समाधान के लिए आवश्यक है।
(अ) A और ँ (ब) A और ण्
(स) ँ और ण् (द) A, ँ और ण्
10. निम्नलिखित में से कौन वानिकी से
सम्बन्धित है?
A. वानिकी वनों का प्रबन्धन है
ँ. वानिकी वनों का संक्षरण है!
ण्. वानिकी एक वैश्विक क्रिया है।
(अ) A और ँ
(ब) A और ण्
(स) ँ और ण्
(द) A, ँ और ण्
11. पर्यावरण अध्ययन के शिक्षक होने के नाते
आपके लिए निम्नलिखित में से क्या
सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण है?
(अ) बच्चों को पर्यावरण सम्बन्धी अवधारणाओं का
ज्ञान कराना
(ब) बच्चों में पर्यावरण संरक्षण के लिए अच्छी
आदतों का विकास करना, जिससे भविष्य में
पर्यावरण को किसी प्रकार की हानि न पहुँचे
(स) अपने विद्यालय की ख्याति के लिए
पर्यावरण-जागरूकता पर एक भव्य समारोह
का आयोजन करवाना
(द) स्वयं को पर्यावरण हितैषी साबित करने के
लिए वृक्षारोपण कार्यक्रम में अपनी उपस्थिति
सम्बन्धी तस्वीरों का समाचार-पत्रों में प्रकाशन
कराना
12. निम्नलिखित में से कौन प्राथमिक स्तर पर
पर्यावरण अध्ययन की एक अवधारणा नहीं है?
(अ) बालक अपने जीवन में पर्यावरण के महत्त्व को
आत्मसात् कर सके इसके लिए आवश्यक है
कि इससे सम्बन्धित शिक्षा को प्राथमिक स्तर
के पाठ्यक्रम में ही शामिल किया जाए
(ब) पर्यावरण शिक्षा निरन्तर चलने वाली प्रक्रिया है
अत: प्राथमिक स्तर से ही इसका शिक्षण
आवश्यक है
(स) प्राथमिक स्तर पर पर्यावरण अध्ययन को
पाठ्यक्रम में शामिल करने के फलस्वरूप ही
बालक भविष्य में पर्यावरण विशेषज्ञ बनकर इस
क्षेत्र में रोजगार प्राप्त कर सकेगा
(द) पर्यावरण शिक्षा औपचारिक एवं अनौपचारिक
दोनों ही प्रकार से चलनी चाहिए और इसकी
शुरूआत प्राथमिक स्तर पर ही हो जानी चाहिए
Aह्रास 1 : हास्द्म््aळrा Aर्ह्राौं 521
Aäास्ु र्ळैं
13. पर्यावरण अध्ययन को प्राथमिक स्तर के
पाठ्यक्रम में शामिल करना क्यों
आवश्यक है?
(अ) बालक को पर्यावरण की अवधारणाओं को
समझाने के लिए प्राथ्ामिक स्तर पर इसे
पाठ्यक्रम में शामिल किया जाना चाहिए
(ब) बालक पर्यावरण से सम्बन्धित प्रश्नों के सही
उत्तर दे सकें, इसके लिए आवश्यक है कि इसे
प्राथमिक स्तर पाठ्यक्रम में शामिल किया जाए
(स) पर्यावरण की शिक्षा यदि प्राथमिक स्तर से ही
दी जाए तो वे आगे चलकर इस क्षेत्र में
रोजगार प्राप्त कर सकते हैं
(द) बच्चों में अच्छी आदतें डालकर उन्हें पर्यावरण
संरक्षण के प्रति सजग बनाए रखने के लिए
प्राथमिक स्तर पर ही पर्यावरण की शिक्षा
प्रारम्भ करनी चाहिए
14. मिस पटेलर्, ेंभर््ैं विद्यालय की प्राचार्या,
अलग-अलग विषयों के शिक्षण के स्थान
पर विज्ञान शिक्षण में एकीकृत उपागम का
प्रयोग करना चाहती हैं। इसका आधार है
(अ) शिक्षकों को समय-सारणी में व्यवस्थित करने
में कठिनाई आती है
(ब) शिक्षार्थी अलग-अलग शिक्षकों के साथ
समायोजन नहीं कर पाते
(स) सभी विषय आपस में जुड़े हुए हैं और शिक्षक
उनकी पाठ्यचर्याओं के मध्य सम्बन्ध जोड़
सकते हैं
(द) उनके विद्यालय में अलग-अलग विषय पढ़ाने के
लिए योग्य शिक्षक उपलब्ध नहीं हैं
15. प्राथमिक स्तर पर विज्ञान व सामाजिक
विज्ञान को एक ही विषय पर्यावरण अध्ययन
के तहत पढ़ाया जाता है, यह है विज्ञान
शिक्षण का …………….।
(अ) अध्यापक-केन्द्रित उपागम
(ब) अनुशासनिक उपागम
(स) एकीकृत उपागम
(द) सामान्य उपागम
16. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए
A. पर्यावणीय समस्याओं से निपटने के
लिए प्रत्येक स्तर पर प्रशिक्षित शक्ति
की आवश्यकता होती है।
ँ. वर्तमान समय में यह अनिवार्य हो गया
है कि पर्यावरण को पोषण व संरक्षण
दिया जाए।
उपरोक्त में से कौन-सा कथन सही है?
(अ) केवल A (ब) केवल ँ
(स) A और ँ दोनों (द) न तो A और न ही ँ
17. राष्ट्रीय शिक्षा नीति, 1986 के विषय में
कौन-सा कथन सही है?
A. पर्यावरण शिक्षा को सभी स्तरों पर
समाहित करना।
ँ. पर्यावरण सम्बन्धी सरोकार के प्रति
जागरुकता पैदा करना।
ण्. मानवीय विकास के लिए शान्तिपूर्वक
माहौल तैयार करना।
(अ) A और ँ (ब) A और ण्
(स) ँ और ण् (द) A, ँ और ण्
18. एकीकृत पर्यावरण अध्ययन के विषय में
कौन-सा कथन सही है?
A. इसमें अलग-अलग विषयों के शिक्षण
के स्थान पर सभी विषयों के सम्मिलित
स्वरूप के शिक्षण पर जोर दिया
जाता है।
ँ. एकीकृत उपागम व्यावहारिक ज्ञान पर
भी जोर देता है।
ण्. यह उपागम छात्रों के साथ-साथ शिक्षकों
के लिए भी उपयोगी होता है।
(अ) A और ँ
(ब) A और ण्
(स) ँ और ण्
(द) A, ँ और ण्
19. एकीकृत उपागम के अन्तर्गत पाठ्यक्रम
निम्न में से किस सिद्धान्त पर आधारित
होना चाहिए?
A. जीवन केन्द्रित सिद्धान्त पर
ँ. व्यावहारिक पक्ष के सिद्धान्त पर
ण्. विषयों की समन्वित इकाई के
सिद्धान्त पर
(अ) केवल A
(ब) केवल ँ
(स) केवल ण्
(द) उपरोक्त सभी
20. एकीकृत उपागम की व्यवस्था करते समय
ध्यान देना चाहिए
(अ) विषय-वस्तु को सरल से कठिन की ओर
संगठित करने में
(ब) पाठ्यक्रम की विभिन्न इकाइयों को क्रमबद्ध
रूप से व्यवस्थित करना
(स) मन्द बुद्धि एवं पिछड़े छात्रों की अधिगम गति
को बढ़ाना
(द) उपरोक्त सभी
21. छात्रों को पर्यावरण अध्ययन की सभी
शाखाओं को एक साथ पढ़ाने हेतु निम्न में
से कौन-सा उपागम श्रेष्ठ है?
(अ) चक्राकार उपागम
(ब) अध्यापक केन्द्रित उपागम
(स) एकीकृत उपागम
(द) स्व-अनुदेशन उपागम
22. प्राथमिक विद्यालय में विज्ञान संग्रहालय
बनाने का सबसे प्रमुख उद्देश्य होता है
(अ) पाठों को शीघ्रतापूर्वक दोहराने के अवसर देना
(ब) व्यक्तिगत शिक्षा के अवसर प्रदान करना
(स) छात्रों में अवलोकन तथा संग्रह करने की
आदत डालना
(द) विज्ञान-अध्यापन में धन की बचत करना
23. एक शिक्षक/शिक्षिका पर्यावरण अध्ययन के
शिक्षण के लिए एकीकृत उपागम का प्रयोग
करते/करती हैं, वे निम्नलिखित में से क्या
करेंगे/करेंगी?
(अ) भूगोल, जीव विज्ञान तथा स्वास्थ्य एवं पोषण
को अलग-अलग पढ़ाएँगे/पढ़ाएँगी
(ब) भूगोल, जीव विज्ञान तथा स्वास्थ्य एवं पोषण
को अलग-अलग न पढ़ाकर समेकित रूप से
पढ़ाएँगे/पढ़ाएँगी
(स) एकीकृत उपागम के महत्त्व को समझते हुए
प्रयोगों पर अधिक ध्यान देगें/देंगी और भूगोल
पढ़ाते समय पढ़ाए जा रहे विषय-वस्तु को
जीव विज्ञान या स्वास्थ्य एवं पोषण से
यथासम्भव दूर रखने का प्रयास करेंगे/करेंगी
(द) भूगोल, जीव विज्ञान तथा स्वास्थ्य एवं पोषण
में से केवल उस विषय को पढ़ाएँगे/पढ़ाएँगी
जिनमें उनकी रुचि एवं छात्रों की रुचि
सर्वाधिक है
24. प्राथमिक कक्षा स्तर पर पर्यावरण अध्ययन
शिक्षण के तीन प्रमुख उद्देश्य हैं
(अ) ज्ञान-अवबोध-अनुप्रयोग
(ब) कौशल-रुचियाँ-अभिवृत्तियाँ
(स) योग्यताएँ-प्रश्ांसाएँ-अवकाश काल का
सदुपयोग
(द) उपरोक्त में से कोई नहीं
25. निम्नलिखित में से किसका सम्बन्ध विज्ञान
शिक्षण व प्रकृति के निर्देशक तत्त्व से है?
A. पाठ्यचर्या में ऐसे प्रयास शामिल होने
चाहिए जिनका जुड़ाव दैनिक जीवन के
अनुभव से हो।
ँ. विज्ञान शिक्षण को कुछ विशेष मूल्यों के
विकास की ओर अग्रसर होना चाहिए।
ण्. विज्ञान पाठ्यचर्या को प्रक्रियाओं पर
अधिक जोर देना चाहिए।
(अ) A और ँ (ब) A और ण्
(स) ँ और ण् (द) A, ँ और ण्
26. निम्नलिखित में से कौन-सा कथन सत्य है?
A. वर्ष 1977 में ईश्वर भाई पटेल की
अध्यक्षता में एक रिव्यू समिति गठित
की गई थी।
ँ. राष्ट्रीय शिक्षा नीति वर्ष 1986 में आई।
ण्. एन. सी. एफ. वर्ष 1998 में आई।
(अ) A और ँ (ब) A और ण्
(स) ँ और ण् (द) A, ँ और ण्
27. निम्नलिखित में से क्या एक सामाजिक
अध्ययन की विशेषता नहीं है?
(अ) सामाजिक अध्ययन मानव जीवन को प्रधानता देता है
(ब) सामाजिक अध्ययन, इतिहास, भूगोल,
अर्थशास्त्र तथा नागरिक शास्त्र का एक संघ है
(स) सामाजिक अध्ययन, ज्ञान के नवीन दृष्टिकोण
पर बल नहीं देता है
(द) सामाजिक अध्ययन, व्यक्ति तथा समाज के
बीच सामंजस्य स्थापित करता है
522 ण्ऊEऊ ु³ुदु ‘स्ड्डैं्नa ह`स्द्म््aळr` Aर्ह्राौं E्श्च् ढारसस्ड्ड़
28. पर्यावरण शिक्षा का मुख्य जोर विद्यार्थियों को
अपनी वास्तविक दुनिया, जिसमें वे रहते हैं जो
…. और …. है, से रू-ब-रू कराना है।
(अ) प्राकृतिक; राजनीतिक (ब) आर्थिक; प्राकृतिक
(स) प्राकृतिक; सामाजिक (द) सामाजिक; आर्थिक
29. निम्नलिखित में से क्या पर्यावरण शिक्षा का
लक्ष्य है?
(अ) बच्चों में वैज्ञानिक जानकारी का विस्तार करना
(ब) बच्चों को उनके परिवेश का महत्त्व समझाना
(स) पर्यावरण संरक्षण के महत्त्व से बच्चों को
अवगत कराना
(द) उपरोक्त सभी
30. स्कूलों में पर्यावरण शिक्षा का उद्देश्य
बच्चों को ज्ञान, दृष्टिकोण और कौशल
प्रदान करने का है, ताकि
(अ) वे सही अर्थों में पर्यावरण को बेहतर बनाने में
सक्षम हो सकें और संधारणीय विकास के
उद्देश्य को प्राप्त करने में योगदान दे सकें
(ब) वे पर्यावरण के विभिन्न वैज्ञानिक सिद्धान्तों को
समझकर अपने जीवन में आर्थिक प्रगति की
ओर अग्रसर हो सकें
(स) वे पर्यावरण विषय पर डाक्यूमेन्ट्री का निर्माण
कर सकने के योग्य बनें
(द) वे इस विषय पर अच्छे निबन्ध की रचना करने
में सक्षम हो सकें
31. पर्यावरण शिक्षा से सम्बन्धित अवधारणाएँ
बहुतायत में ….. इन पाठ्य-पुस्तकों में पाई
जाती हैं।
(अ) जीव विज्ञान एवं रसायन शास्त्र
(ब) भौतिकी एवं भूगोल
(स) अर्थशास्त्र एवं सामाजिक शास्त्र
(द) उपरोक्त सभी
32. निम्नलिखित को सूमेलित कीजिए
A. कोठारी आयोग (ग्) 1930
ँ. बेसिक शिक्षा (ग्ग्) 1964
ण्. पर्यावरणीय शिक्षा (ग्ग्ग्) 1937
A ँ ण्
(अ) ग् ग्ग् ग्ग्ग्
(ब) ग्ग्ग् ग् ग्ग्
(स) ग्ग्ग् ग्ग् ग्
(द) ग्ग् ग्ग्ग् ग्ग्
33. निम्नलिखित में से कौन-सी अन्तर्राष्ट्रीय
एजेन्सियाँ पर्यावरणीय शिक्षा के कार्यक्रमों
के लिए सहयोग देती हैं?
A. यूनेस्को ँ. यूनिसेफ
ण्. विश्व बैंक D. यूनेप
(अ) A, ँ और ण् (ब) ँ, ण् और D
(स) A, ँ और D (द) A, ँ, ण् और D
34. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए
A. पर्यावरण उन्मुखी योजना वर्ष 1988 में
मानव संसाधन विकास मन्त्रालय द्वारा
शुरू की गई थी।
ँ. राष्ट्रीय हरित कोर का उद्देश्य देश के
प्रत्येक जिले में इको क्लबों की स्थापना
करना है।
उपरोक्त में से कौन-सा कथन सही है?
(अ) केवल A (ब) केवल ँ
(स) A और ँ दोनों (द) न तो A और न ही ँ
35. पर्यावरण शिक्षा के उद्देश्यों की प्राप्ति के
लिए पाठ्यचर्या किन बातों पर आधारित
होनी चाहिए?
(अ) पर्यावरण के विषय में अधिगम
(ब) पर्यावरण के द्वारा अधिगम
(स) पर्यावरण के लिए अधिगम
(द) उपरोक्त सभी
36. निम्नलिखित कथनों में से कौन-सा प्राथमिक
स्तर पर पर्यावरण अध्ययन पढ़ाने का
उद्देश्य नहीं है? डण्ऊEऊ व्ल्ह 2011़
(अ) बच्चों पर आकलन के लिए शब्दावली और
परिभाषाओं का बोझ डालना
(ब) जीवन ओर पर्यावरण से सरोकार रखने वाले
मूल्यों को आत्मसात् करना
(स) प्राकृतिक व सामाजिक वातावरण के विषय में
उत्सुकता जगाना
(द) बच्चों को खोजने की क्रियाओं में लगाना तथा
व्यावहारिक क्रियाएँ करवाना, जो संज्ञानात्मक
और मनश्चालक कौशलों के विकास में
सहायक होती हैं
37. पर्यावरण अध्ययन की कक्षा में संकल्पनाओं
को स्पष्ट करने के लिए कविताओं और
कहानियों के कथन का प्रयोग करना
सहायता करता है डण्ऊEऊ र्‍दन् 2012़
(अ) पाठ को आनन्ददायी और रोचक बनाने में
(ब) स्थानीय एवं वैश्विक स्तर पर संसार की
प्रकृति को खोजने और कल्पना करने की
योग्यता को बढ़ावा देने में
(स) शिक्षार्थियों में निहित भाषा एवं सांस्कृतिक
विविधताओं को ध्यान रखने में
(द) सही दिशा में विद्यार्थियों की ऊर्जा का
सारणीकरण करने में
38. ‘पर्यावरण अध्ययन की एक अच्छी
पाठ्यचर्या को बच्चे के प्रति सही, जीवन के
प्रति सही और विषय के प्रति सही होना
चाहिए।’ पाठ्यचर्या की निम्नलिखित
विशेषताओं में से कौन-सी उपरोक्त
आवश्यकता को पूरा नहीं करती?
डण्ऊEऊ व्ल्त् 2013़
(अ) यह शब्दावली और परिभाषाओं पर अधिक बल
देती है
(ब) यह भय एवं पूर्वाग्रहों से मुक्त होने के मूल्य को
बढ़ावा देती है
(स) यह विषय को एक सामाजिक प्रक्रम के रूप में
देखने के लिए शिक्षार्थियों हेतु आवश्यक है
(द) यह शिक्षण-अधिगम प्रक्रिया पर अधिक बल देती है
39. पर्यावरण अध्ययन की पाठ्य-पुस्तकों में
कविताओं और कहानियों को शामिल करने
का निम्नलिखित में से कौन-सा उद्देश्य
नहीं है? डण्ऊEऊ व्ल्त् 2013़
(अ) शिक्षार्थियों में कल्पनाशीलता और सृजनात्मक
योग्यता को बढ़ावा देना
(ब) विषय में रुचि का विकास करना
(स) नित्य और एकरस विषय-वस्तु में बदलाब
करना
(द) शिक्षार्थियों को आनन्द और मजा उपलब्ध
कराना
40. निम्नलिखित में से कौन-सा प्राथमिक स्तर
पर पर्यावरण अध्ययन की पाठ्यचर्या की
आवश्यकता के अनुरूप नहीं है?
डण्ऊEऊ व्ल्त् 2013़
(अ) उसे शिक्षार्थियों के मानसिक स्तर के अनुकूल
होना चाहिए
(ब) उसे काम की दुनिया में प्रवेश के लिए
शिक्षार्थियों को ज्ञान एवं कौशल से लैस करना
चाहिए
(स) उसे शिक्षार्थियों में पर्यावरण के सरोकार काे
उत्पन्न करना चाहिए
(द) उसे शिक्षार्थियों को उन पद्धतियों और
प्रक्रियाओं को अर्जित करने में शामिल रखना
चाहिए जो नए ज्ञान को उत्पन्न करने में आगे
ले जाएँगे
41. एन.सी.ई.आर.टी. की पाठ्य-पुस्तकों में
पर्यावरण अध्ययन को उच्च प्राथमिकता
और स्थान दिया गया है डण्ऊEऊ व्ल्त् 2013़
(अ) अधिक संख्या में अभ्यास प्रश्नों को शामिल
करने के लिए
(ब) विषय की आधारभूत संकल्पनाओं की व्याख्या
करने के लिए
(स) चिन्तन और विस्मय के लिए शिक्षार्थियों को
अवसर उपलब्ध कराने के लिए
(द) तकनीकी शब्दावली की सटीक परिभाषाएँ
उपलब्ध कराने के लिए
42. पर्यावरण अध्ययन की पाठ्य-पुस्तक में
विभिन्न प्रकरणों में एक खण्ड ‘करके देखो’
को शामिल किया गया है, जिसका
उद्देश्य है डण्ऊEऊ व्ल्त् 2013़
(अ) घर में शिक्षार्थियों को व्यस्त रखना
(ब) प्रत्यक्ष हस्तपरक अनुभव उपलब्ध कराना
(स) परीक्षा में निष्पादन को सुधारना
(द) वैज्ञानिक शब्दावली की परिभाषाएँ सीखना
43. कक्षा न्न् की एन.सी.ई.आर.टी. की पर्यावरण
अध्ययन की पाठ्य-पुस्तक में प्रत्येक पाठ
के अन्त में एक खण्ड को शामिल किया
गया है ‘हम क्या समझे’ यह सुझाव दिया
गया है कि इस खण्ड में शामिल प्रश्नों के
उत्तर का सही या गलत के रूप में आकलन
नहीं किया जाएगा। यह परिवर्तन इसलिए
किया गया है, क्योंकि डण्ऊEऊ व्ल्त् 2013़
(अ) यह आकलन में विषय निष्ठता को कम
करता है
Aह्रास 1 : हास्द्म््aळrा Aर्ह्राौं 523
ढ्व्न्न् ्fस़् ‘| हब्र्‍्नद व्E र्ळैं
(ब) इस स्तर पर बच्चे सही उत्तर नहीं लिख
सकते
(स) यह आकलन में शिक्षकों की सुविधा बढ़ाता है
(द) यह जानने में शिक्षक की सहायता करता है
कि बच्चे वैâसे सीख रहे हैं?
44. प्राथमिक स्तर की अच्छी Eन्न्ए पाठ्यचर्या
में होना चाहिए डण्ऊEऊ इां 2014़
(अ) पाठ के अन्त में अधिक अभ्यास प्रश्न
सम्मिलित करना
(ब) अपने आस-पास को खोजने के अवसर प्रदान
करना
(स) संकल्पनाओं की विस्तृत व्याख्या पर अधिक
एकाग्रता
(द) पाठों की यथार्थ की परिभाषा पर अधिक बल
देना
45. प्राथमिक स्तर पर Eन्न्ए की पढ़ाई का एक
प्रमुख उद्देश्य है डण्ऊEऊ इां 2014़
(अ) विषय की मूल संकल्पनाओं की गहन समझ
विकसित करना
(ब) अगले स्तर पर अध्ययन के लिए विद्यार्थियों
को तैयार करना
(स) कक्षा की पढ़ाई को शिक्षार्थी के विद्यालय से
बाहर के जीवन से सम्बन्धित करने में सहायता
करना
(द) स्वतन्त्र रूप से हस्तसिद्ध क्रिया-कलापों को
करने का कौशल अर्जित करना
46. प्राथमिक स्तर की Eन्न्ए पाठ्य-पुस्तकों में
कविताएँ और कहानियाँ सम्मिलित करने का
कारण है डण्ऊEऊ इां 2014़
(अ) विद्यार्थियों में साहित्यिक रुचि विकसित करना
(ब) विषय के अधिगम में आमोद-प्रमोद करना
(स) मूल संकल्पनाओं के अधिगम में वृद्धि करना
(द) विषय-वस्तु को प्रस्तुत करने की नित्यचर्या और
एकरसता में परिवर्तन करना
47. ई वी एस संक्षेपण ………. अर्थ में प्रयुक्त
होता है। डण्ऊEऊ एाज् 2014़
(अ)एनवायरन्मेण्टल स्किल्स
(ब)एनवायरन्मेण्टल साइन्स
(स)एनवायरन्मेण्टल सोर्सेज
(द)एनवायरन्मेण्टल स्टडीज
48. आँचल अपनी कक्षा न्न् में पर्यावरण
अध्ययन की कक्षा में अकसर गहन
जाँच-पड़ताल वाले और कल्पनापरक प्रश्न
पूछती है। उसके द्वारा इस प्रकार करने का
उद्देश्य ……. सुधार करना है।
डण्ऊEऊ एाज् 2014़
(अ) अवलोकन कौशलों में
(ब) संवेगात्मक कौशलों में
(स) चिन्तन कौशलों में
(द) बोलने सम्बन्धी कौशलों में
49. हरप्रीत अपने शिक्षार्थियों को यह सुझाव देना
चाहती है कि पर्यावरण संरक्षण के लिए
किस प्रकार एक व्यक्ति सबसे अच्छे
सम्भावित तरीके से अपना योगदान दे
सकता है। उनका सबसे बेहतर सुझाव हो
सकता है डण्ऊEऊ एाज् 2014़
(अ) आने-जाने के लिए सार्वजनिक साधनों का
प्रयोग करना
(ब) कार, स्कूटर आदि जैसे व्यक्तिगत वाहन न रखें
(स) घर से बाहर अकसर आने-जाने से बचना
(द) अपने व्यक्तिगत वाहन के इंजन की नियमित
जाँच
50. प्राथमिक स्तर पर पर्यावरण अध्ययन के
शिक्षण में कहानियों और कविताओं का
प्रभावी ढंग से उपयोग किया जा सकता है।
पर्यावरण अध्ययन में इनके उपयोग का
मुख्य उद्देश्य है डण्ऊEऊ इां 2015़
(अ) कक्षा की विविधता की पूर्ति
(ब) सीखने के लिए सन्दर्भगत वातावरण प्रदान
करना
(स) पाठों को आनन्ददायक बनाना
(द) भाषिक कौशलों को बढ़ावा देना
51. प्राथमिक कक्षाओं में पर्यावरण अध्ययन के
लिए निम्नलिखित सभी सामान्य उपागमों का
अनुपालन किया जाना है, केवल इसे
छोड़कर डण्ऊEऊ इां 2015़
A. मूर्त से अमूर्त
ँ. सरल से कठिन
ण्. स्थानीय से वैश्विक
D. अमूर्त से मूर्त
(अ) केवल ँ (ब) केवल D
(स) A और ँ (द) ँ और ण्
52. पर्यावरण अध्ययन के शिक्षण से उन प्रक्रिया
पर आधारित कौशलों को बढ़ावा दिया जाना
चाहिए जो पूछताछ आधारित प्रत्यक्ष
अनुभवों के केन्द्र-बिन्दु हैं। निम्नलिखित में
से कौन-सा एक ऐसा कौशल नहीं है?
डण्ऊEऊ इां 2015़
(अ) पूर्वानुमान (ब) निर्धारण
(स) निष्कर्ष निकालना (द) अवलोकन
53. प्राथमिक कक्षाओं में पर्यावरण अध्ययन पढ़ाने
के लिए निम्नलिखित में से कौन-सा उद्देश्य
सम्बन्धित नहीं है? डण्ऊEऊ एाज् 2015़
(अ) विज्ञान के आधारभूत प्रत्ययों और सिद्धान्तों
को रटकर याद कर लेना
(ब) पर्यावरण को खोजने के अवसर प्रदान करना
(स) अवलोकन, मापन, भविष्य कथन और
वर्गीकरण जैसे कौशलों का विकास करना
(द) भौतिक और सामाजिक परिवेश के प्रति
संवेदनशीलता विकसित करना
54. पर्यावरण अध्ययन की प्रकृति निम्नल्िाखित
का समर्थन नहीं करती डण्ऊEऊ एाज् 2015़
(अ) बच्चे कम गलतियाँ करें
(ब) बच्चों को करके सीखने का अवसर मिले
(स) बच्चे बहुत से प्रश्न पूछे
(द) बच्चों को खोज करने के लिए पर्याप्त स्थान मिले
55. पर्यावरण अध्ययन के शिक्षाशास्त्र के सन्दर्भ
में, सिवाय ……… के, निम्नलिखित सभी
वांछनीय अध्यास हैं। डण्ऊEऊ इां 2016़
(अ) आलोचनात्मक चिन्तन और समस्या-समाधान
के लिए क्षमता-संवर्द्धन करने
(ब) बच्चे की अस्मिता (व्यक्तित्व) का पोषण करने
(स) वास्तविक अवलोकन के स्थान पर
पाठ्य-पुस्तकीय ज्ञान की श्रेष्ठता को स्वीकार
करने
(द) पाठ्य-वस्तुओं और सन्दर्भों की बहुलता को
बढ़ावा देने
56. पर्यावरण अध्ययन की पाठ्य-पुस्तक में
प्रयुक्त भाषाएँ डण्ऊEऊ एाज् 2016़
(अ) परिभाषाओं पर बल देते हुए औपचारिक बनाई
जानी चाहिए
(ब) तकनीकी और औपचारिक होनी चाहिए
(स) बच्चे की दिन-प्रतिदिन की भाषा से सम्बद्ध
होनी चाहिए
(द) रूखी और बच्चों के द्वारा समझने में कठिन
होनी चाहिए
57. ‘समुदाय’ एक महत्त्वपूर्ण शिक्षण और
अधिगम संसाधन है, क्योंकि
डण्ऊEऊ अम् 2018़
(अ) कोई भी समुदाय में उपलब्ध समस्त ज्ञान को
बिना आलोचना के स्वीकार कर सकता है
(ब) यह सस्ता और सुलभ है
(स) बुजुर्ग लोग बुद्धिमान हैं और उनके पास
समय है
(द) यह वास्तविक परिस्थिति में सीखने का अवसर
प्रदान करता है
58. पर्यावरण अध्ययन के सन्दर्भ में ‘बोझ के
बिना सीखना’ क्या बताता है?
डण्ऊEऊ अम् 2018़
(अ) ईवीएस पाठ्यक्रम को आधा कम करने की
आवश्यकता है
(ब) स्कूल बैग का कम वजन
(स) ईवीएस पाठ्य-पुस्तकों में अध्यायों की कम
संख्या
(द) अबोध का भार कम करने की आवश्यकता है
59. विद्यालय में मिड-डे मील के समय के लिए
कौन-सा सबसे प्रासंगिक है?
डण्ऊEऊ अम् 2018़
(अ) यह शिक्षण-अधिगम के बहुत ही मूल्यवान
समय को बर्बाद करता है
(ब) शिक्षण-अधिगम के साथ इसका कोई लेना-देना
नहीं है
(स) यह ईवीएस शिक्षण-अधिगम के लिए एक
अच्छा शिक्षण-अधिगम का अवसर है
(द) यह उन बच्चों के लिए है, जो विद्यालय में
खाली पेट आते हैं
60. किस राष्ट्रीय पाठ्यचर्या प्रâेमवर्क (र्‍ण्इ) ने
प्राथमिक स्तर पर एक एकीकृत पाठ्यचर्या
क्षेत्र के रूप में पढ़ाए जाने के लिए
पर्यावरण अध्ययन की सिफारिश की?
डण्ऊEऊ अम् 2018़
(अ) र्‍ण्इ-1975 (ब) र्‍ण्इ-2005
(स) र्‍ण्इ-1988 (द) र्‍ण्इ-2000
524 ण्ऊEऊ ु³ुदु ‘स्ड्डैं्नa ह`स्द्म््aळr` Aर्ह्राौं E्श्च् ढारसस्ड्ड़
61. ईवीएस कक्षा में समूह में सीखने का किया
उद्देश्य है? डण्ऊEऊ अम् 2018़
(अ) छात्रों को आसानी से प्रबन्धित करना और
वर्कलोड को कम करना
(ब) लड़के और लड़कियाँ अलग-अलग सीख
सकते हैं
(स) कम और उच्च प्रदर्शन करने वाले छात्रों को
अलग करना और उपचारात्मक शिक्षण देना
(द) सहयोग के मूल्यों को लागू करने और एक
साथ काम करने के लिए प्रत्येक बच्चे को
सक्रिय रूप से भाग लेने और सीखने में सक्षम
बनाना।
62. निम्नलिखित में से क्या एक पर्यावरण
अध्ययन में ज्ञान की रचना में बहुत ही
महत्त्वपूर्ण है डण्ऊEऊ व्ल्त् 2019़
1. बच्चों की सक्रिय भागीदारी
2. बच्चों के ज्ञान को शिक्षकों के ज्ञान से जोड़ना
3. पर्यावरण अध्ययन को कक्षा की चहारदीवारी से
बाहर सीखना
4. बच्चों के स्थानीय ज्ञान को विद्यालय के ज्ञान से
सम्बन्धित करना
कूट
(अ) 1 और 4 (ब) 1, 3 और 4
(स) केवल 4 (द) केवल 1
63. निम्नलिखित में से कौन-सा पर्यावरण
अध्ययन का उद्देश्य नहीं है?
डण्ऊEऊ व्ल्त् 2019़
(अ) बच्चों को पाठ्य-पुस्तक की परिभाषाएँ प्रदान
करने के लिए प्रोत्साहित करना
(ब) बच्चों की जिज्ञासा और सृजनात्मकता का
पोषण करना
(स) परिवेशीय मुद्दों पर जागरुकता का विकास
करना
(द) बच्चे को स्वयं अपने हाथ से कार्य करने और
खोजने के क्रियाकलापों से जोड़ना
64. निम्नलिखित में से कौन-सा एक पर्यावरण
अध्ययन के सम्बन्ध में सत्य नहंीं है?
डण्ऊEऊ व्ल्त् 2019़
(अ) पर्यावरण अध्ययन वर्णनों और परिभाषाओं पर
बल देता है
(ब) पर्यावरण अध्ययन की प्रकृति एकीकृत है
(स) पर्यावरण अध्ययन बालकेन्द्रित अध्ययन है
(द) पर्यावरण अध्ययन बच्चों को अपने परिवेश को
खोजने का अवसर देता है
65. पर्यावरण अध्ययन के पाठ्यक्रम में
उपविषयों के स्थान पर थीम को प्रस्तावित
किया गया है, क्यों? डण्ऊEऊ व्ल्त् 2019़
(अ) उपविषयों की तुलना में थीम आधारित
पर्यावरण अध्ययन का सम्पादन आसान है
(ब) पर्यावरण अध्ययन में पाठों को कम करने के
लिए
(स) बच्चों के परिवेशीय बोध में वृद्धि करने के
लिए
(द) बच्चों के स्थानीय परिवेश के मुद्दों से जुड़े
हुए और अन्त: सम्बन्धित समझ के विकास के
लिए
66. निम्नलिखित में से कक्षा घ् और घ्घ् के लिए
पर्यावरण अध्ययन विषय के सन्दर्भ में
सत्य है डण्ऊEऊ व्ल्त् 2019़
(अ) कक्षा घ् और घ्घ् में एक विषय के रूप में
पर्यावरण अध्ययन समझने के लिए आसान
नहीं है
(ब) पर्यावरण अध्ययन से सम्बन्धित मुद्दों और
सम्बन्धों का सम्पादन भाषा के द्वारा होता है
(स) पर्यावरण अध्ययन से सम्बन्धित मुद्दों और
सम्बन्धों का सम्पादन भाषा और गणित के
माध्यम से होता है
(द) कथा घ् और घ्घ् में पर्यावरण अध्ययन को एक
नए विषय के रूप में प्रस्तुत किया गया है
67. Eन्न्ए की एकीकृत प्रकृति सहायक है
डण्ऊEऊ व्aह 2021़
(अ) शिक्षार्थी केन्द्रित उपागम का पालन करने
और संकल्पनाओं की अधिक संख्या का
परिचय देने में।
(ब) दी गई सूचनाओं और विवरणों से सीखने में।
(स) पाठ्यचर्या के भार को कम करने और विशिष्ट
प्रकरणों काे पेश करने में।
(द) पाठ्यचर्या के भार को कम करने और
शिक्षार्थियों को सार्थकतापूर्वक सीखने में।
68. आप एक एकीकृत Eन्न्ए कक्षा के लिए
वैâसे योजना बनाएँगे? डण्ऊEऊ व्aह 2021़
(अ) विज्ञान और सामाजिक विज्ञान के लिए अलग
अध्यापकों का प्रबन्ध करेंगे
(ब) पर्यावरण विज्ञान के लिए अलग अध्यापक का
प्रबन्ध करेंगे
(स) एक पाठ में दो या अधिक विषय क्षेत्रों को
मिलाएँगे
(द) अलग योजनाओं में सभी विषयों को अलग
करेंगे
69. प्राथमिक स्तर पर ई. वी. एस. की एकीकृत
प्रवृत्ति को निम्न में से कौन अनुमोदित
करता है? डण्ऊEऊ अम् 2021़
1. विज्ञान, सामाजिक विज्ञान तथा पर्यावरण शिक्षा
की अवधारणाओं एवं मुद्दों का एकीकरण
2. बच्चा अपने पर्यावरण को एक सम्पूर्ण रूप में
देखता है
3. यह थीम पर आधारित है
4. इसमें विज्ञान एवं सामाजिक विज्ञान के विषय
तथा उपविषय हैं
कूट
(अ) 1, 2 और 3 (ब) 2, 3 और 4
(स) 1 और 2 (द) 2 और 3
70. पर्यावरण अध्ययन की पाठ्यपुस्तक
विद्यार्थियों को सहायता करती हैं
डण्ऊEऊ व्aह 2022़
(अ) पर्यावरण अध्ययन विषय के मुद्दों और
सरोकारों के प्रति प्रतिक्रिया देने में
(ब) पर्यावरण अध्ययन विषय के मुद्दों और
सरोकारों की व्याख्या करने में
(स) सभी संसाधनों के द्वारा ज्ञान की रचना
करने में
(द) पर्यावरण अध्ययन विषय के मुद्दों और
सरोकारों को याद करने में
71. इनमें से क्या पर्यावरण अध्ययन का
भाग है? डण्ऊEऊ व्aह 2022़
(अ) सामाजिक विज्ञान के मुद्दे और सरोकार
(ब) सामाजिक असमानता से सम्बन्धित मुद्दे और
सरोकार
(स) पर्यावरण शिक्षा की अवधारणाएँ
(द) विज्ञान, सामाजिक विज्ञान और पर्यावरण शिक्षा
से सम्बन्धित मुद्दे और सरोकार
72. निम्नलिखित में से कौन-सा प्राथमिक स्तर
पर पर्यावरण अध्ययन के उद्देश्य हो
सकते हैं? डण्ऊEऊ व्aह 2022़
1. विद्यार्थियों को अपने स्वयं के सीखने पर िंचतन
करने के लिए प्रोत्साहित करना
2. नए ज्ञान को उत्पन्न करने के लिए स्थान,
समय और स्वतन्त्रता देकर विद्यार्थियों को
आकर्षित करना
3. विद्यार्थियों को सीखने में प्रतिभागियों के रूप में
व्यवहार करना, ज्ञान के एक निश्चित निकाय
के प्राप्तकर्ता के रूप में नही।
4. निर्धारित पाठ्य-पुस्तक को सीखन के लिए
संसाधनों का एकमात्र आधार मानना
कूट
(अ) 1, 3 और 4 (ब) 2, 3 और 4
(स) 1, 2 और 3 (द) 3 और 4

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × three =

error: Content is protected !!
Scroll to Top